विज्ञान भवन में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दिया राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

May 04 2015 09:17 AM
विज्ञान भवन में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दिया राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने रविवार को विज्ञान भवन में आयोजित एक भव्य समारोह में 62वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्रदान किए. इस वर्ष दादा साहेब फाल्के पुरस्कार शशि कपूर को दिया गया, हालांकि वह समारोह में मौजूद नहीं हो सके और अब उन्हें मुंबई में जल्द ही यह सम्मान प्रदान किया जाएगा. फीचर फिल्म श्रेणी में 45 और गैर फीचर फिल्म श्रेणी में 21, यानी कुल 66 पुरस्कार प्रदान किए गए. समारोह में बांग्ला, मराठी, पंजाबी, तमिल, तेलुगू और असमी फिल्म उद्योग की जानी मानी हस्तियां मौजूद थीं.

समारोह में शशि कपूर पर विशेष फिल्म का प्रदर्शन किया गया और गायक सुखविंदर सिंह ने गाना पेश किया. सुखविदर को हैदर के गाने बिस्मिल के लिए सर्वश्रेष्ठ पाश्र्वगायक का पुरस्कार दिया गया. उत्तरा उन्नीकृष्णन को तमिल फिल्म सैवम के अझगू गाने के लिए सर्वश्रेष्ठ पाश्र्वगायिका का पुरस्कार दिया गया. समारोह में गैर फीचर फिल्म श्रेणी में कुल 21 पुरस्कार और फीचर फिल्म श्रेणी में 45 पुरस्कार राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किए गए. सिनेमा पर सर्वोत्कृष्ट लेखन के लिए तीन पुरस्कार दिए गए.

सर्वोत्कृष्ट फीचर फिल्म का पुरस्कार कोर्ट (मराठी, हिन्दी, गुजराती और अंग्रेजी) को दिया गया, जिसका निर्माण जू एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड और निर्देशन चैतन्य तम्हाणे ने किया है. सर्वोत्कृष्ट फिल्म के रूप में चुनी गई किसी निर्देशक की पहली फिल्म को दिया जाने वाला इंदिरा गांधी पुरस्कार आशा जाऔर माझे (बांग्ला) को दिया गया, जिसका निर्देशन आदित्य विक्रम सेन गुप्ता और निर्माण एफ ओ आर फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड ने किया है. सर्वाधिक लोकप्रिय फिल्म का पुरस्कार मैरीकोम (हिन्दी) को प्रदान किया गया, जिसका निर्देशन उमंग कुमार और निर्माण वैकोम18 मोसन पिक्च र्स द्वारा किया गया है.

सामाजिक मुद्दों पर सर्वोत्कृष्ट फिल्म का पुरस्कार छोटेदार चोबी (बांग्ला) को दिया गया, जिसका निर्देशन कौशिक गांगुली और निर्माण वेंकटेश फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया गया है. सर्वोत्तम निर्देशक का पुरस्कार श्रीजी मुखर्जी को फिल्म चतुष्कोण (बांग्ला) के लिए दिया गया. सर्वोत्तम अभिनेता का पुरस्कार विजय को फिल्म नानू अवानल्ला अवालु (कन्नड़) के लिए और सर्वोत्तम अभिनेत्री का पुरस्कार फिल्म क्वीन (हिन्दी) के लिए कंगना रनौत को दिया गया. केन्द्रीय वित्त, कॉरपोरेट कार्य और सूचना एवं प्रसारण मंत्री अरुण जेटली और सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्य बर्धन सिंह राठौर भी इस अवसर पर मौजूद थे.