माघ मेले से पहले CM योगी ने जारी किये खास निर्देश

लखनऊ: प्रयागराज के संगम के पास साल 2022 में माघ मेले का आयोजन होने वाला है, लेकिन इस बार भी कोरोना महामारी का कहर देखते हुए सख्ती रहने वाली है। हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि 'वैक्सीन की डबल डोज लेकर लोगों से आने की अपील की जाए।' वहीं इस पर मेला प्राधिकरण सभी संस्थाओं से कहने वाला है कि डबल डोज का प्रमाणपत्र जरूर लें। इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है कि डबल डोज का प्रमाणपत्र वाले लोगों को ही मेले में जमीन और सुविधाएं दी जाएंगी। इसके साथ ही मेले में सभी व्यवस्थाएं पिछले साल जितनी ही होंगी। ऐसा माना जा रहा था कि इस साल कोरोना का कहर कम हो रहा है और इसी के चलते मेले में रौनक बढ़ सकती है।

हालाँकि अब भी मेला प्राधिकारण के सामने दो समस्याएं हैं। इनमे एक बजट है तो दूसरा गंगा का जलस्तर। जी दरअसल इस बार बढ़े जल स्तर के कारण 20 फीसदी जमीन कम हो गई है। इसी के चलते सुविधाएं और जमीन बांटने में परेशानी आना तय है। वहीं दूसरी तरफ प्राधिकरण के अफसरों का कहना है कि बीते शनिवार को भी गंगा का पाटा बेहद चौड़ा था और पानी का बहाव तेज था।

इसी के चलते कटान भी अधिक दिखेगा और इसी लिहाज से इस बार सुविधा और जमीन बढ़ा पाना संभव नहीं है। आपको बता दें कि इस बार महज 59 करोड़ रुपये का बजट दिया गया है। इस बजट की कमी से भी सुविधाओं पर असर रहेगा। हालाँकि इन सभी के बीच इस बार वैक्सीन की डबल डोज का प्रमाणपत्र अनिवार्य कर दिया गया है। वैक्सीन की डबल डोज का प्रमाणपत्र लोगों को देना होगा। वहीं दूसरी तरफ माघ मेले के लिए अभी से लोगों ने जमीन और सुविधाएं मांगनी शुरू कर दी है। वहीं मुख्यमंत्री का स्पष्ट निर्देश जारी हो चुका है कि कोविड गाइडलाइन का पालन कराया जाए।

संयोग या प्रयोग ? अपने एक ट्वीट के लिए जमकर ट्रोल हुए अखिलेश यादव

फ़तेहपुर में मिला जीका वायरस का पहला केस, शासन हुआ अलर्ट

सोशल मीडिया पर उर्वशी रौतेला ने किया अपने सोलमेट का खुलासा!

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -