गुरु पूजा है सौभाग्य प्राप्ति का अचूक उपाय

Nov 17 2016 10:06 PM
गुरु पूजा है सौभाग्य प्राप्ति का अचूक उपाय

शास्त्रों के मुताबिक गुरु बल ही ईश्वर कृपा को संभव बना देता है. इसलिए गुरु को ब्रह्मा, विष्णु और महेश का स्वरूप भी बताया गया है. गुरुवार गुरु भक्ति से ही जीवन में घुली अशांति और कलह को दूर करने का शुभ दिन है. ज्ञान के देवता गुरु बृहस्पति माने गए हैं. बृहस्पति पूजा न केवल वैवाहिक दोष, बल्कि हर तरह से दक्षता, समृद्धि व शांति देने वाली मानी गई है. गुरु की प्रसन्नता के लिए इस दिन खासतौर पर विशेष रूप से केले के वृक्ष की पूजा का महत्व है. केले का वृक्ष विष्णु का रूप भी माना गया है.

यही भी वजह है कि गुरुवार को अगर विशेष पीली सामग्रियां चढ़ाने के साथ विशेष विष्णु मंत्र का ध्यान कर गुरु बृहस्पति की पूजा की जाए तो यह भरपूर सुख व सौभाग्य पाने की कामनासिद्धि का अचूक उपाय माना गया है. जानिए यह खास उपाय –

पूजा के बाद गुरु मंत्रो के स्मरण के साथ नीचे लिखें विष्णु मंत्र स्तोत्र के विशेष मंत्रों का ध्यान कर विवाह, धन, सुख की कामना करें व अंत में बृहस्पति-विष्णु की आरती घी के दीप से ही करें - 

श्रीनिवासाय देवाय नम: श्रीपयते नम:.

श्रीधराय सशाङ्र्गाय श्रीप्रदाय नमो नम:.. 

श्रीवल्लभाय शान्ताय श्रीमते च नमो नम:. 

श्रीपर्वतनिवासाय नम: श्रेयस्कराय च. 

श्रेयसां पतये चैव ह्याश्रयाय नमो नम:.

नम: श्रेय:स्वरूपाय श्रीकराय नमो नम:..

शरण्याय वरेण्याय नमो भूयो नमो नम:.

स्त्रोत्रं कृत्वा नमस्मृत्य देवदेवं विसर्जयेत्..

इति रुद्र समाख्याता पूजा विष्णोर्महात्मन:.

य: करोति महाभक्त्या स याति परमं पदम्..

शनि कृपा के लिए धारण करे रुद्राक्ष