बिहार की शराबबंदी पर प्रशांत किशोर ने उठाए सवाल, कहा- गरीबों को लूट रही नितीश सरकार

पटना: चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने एक बार फिर नीतीश सरकार पर निशाना साधा हैं। पूर्वी चम्पारण के अंतर्गत आने वाले भवानीपुर गांव में जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होने कहा कि शराबबंदी लागू होने से बिहार जैसे गरीब राज्य का प्रति वर्ष 20 हजार करोड़ का नुकसान हो रहा है, जिसकी वसूली भी जनता से ही की जा रही है। डीजल-पेट्रोल पर टैक्स के नाम पर 10 से 12 रुपए अधिक वसूले जा रहे हैं। 

प्रशांत किशोर ने कहा कि, बाकी राज्यों के मुकाबले बिहार में तेल की कीमतें अधिक है। खेती करने वाले किसानों को डीजल पर 9 रुपए अधिक देने पड़े रहे हैं। जबकि शराब की होम डिलवरी भी हो रही है। बता दें प्रशांत किशोर की बिहार में जन सुराज पदयात्रा जारी है। इससे पहले भी प्रशांत किशोर ने बिहार की महागठबंधन सरकार को आड़े हाथों लिया था। प्रशांत किशोर ने कहा था कि विगत 32 वर्षों में लालू और नीतीश ने मिलकर पूरे राज्य को मजदूर बनाने की फैक्ट्री बना दिया है। 

पीके ने कहा कि जिस राज्य को मजदूरों की आवश्यकता होती है, उसे सबसे पहले बिहार का नाम याद आता है। बिहार कभी आलू और बालू से आगे निकल ही नहीं सका। प्रशांत ने कहा कि यदि बिहार का एक तिहाई किसान सब्जी उगाने लगे, तो बिहार पूरे देश को सब्जी की आपूर्ति कर सकता है। कोल्डस्टोरेज को हम सिर्फ आलू रखने का घर समझते हैं, हम फल सब्जी भी रख सकते हैं। मगर, हम कभी आलू से आगे निकले ही नहीं।

भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बने कैप्टन अमरिंदर, कांग्रेस से आए सुनील जाखड़ को भी मिली जगह

'गुजरात में फिर बनेगी भाजपा सरकार..', अंतिम चरण के प्रचार में पीएम मोदी ने भरी हुंकार

'हद में रहो, वरना जब हम सत्ता में आएँगे तो..', योगी सरकार को अखिलेश ने दी धमकी

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -