महिला कर्मचारियों द्वारा लगाए गए उत्पीड़न के आरोप के बाद प्रसार भारती ने दिया बड़ा बयान

प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर ने हाल ही में ये कहा है कि दूरदर्शन यौन उत्पीड़न के मामलों को ‘अत्यंत गंभीरता’ से लेता है और अनुशासनात्मक नियमों के तहत कड़ी कार्रवाई की जाती है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एक दिन पहले ही लोक प्रसारक की तीन महिला कर्मचारियों ने अपने एक वरिष्ठ अधिकारियों पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था जिसके बाद प्रसार भारती द्वारा ये बयान जारी किया गया है.

पीड़ित महिलाओं ने ये दावा किया है कि उनके अनुबंध को नवीनीकृत करने के बहाने उनका यौन उत्पीड़न किया गया. आपको बता दें पीड़ित महिलाएं अनुबंध पर कार्यरत कर्मचारी हैं. लेकिन उन्होंने इस यौन उत्पीड़न की घटना के बारे में विस्तार से नहीं बताया. महिलाओं द्वारा आरोप लगाने के बाद प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर ने ट्वीट कर कहा कि, ‘दूरदर्शन के बेहद सक्षम महानिदेशक (डीजी) दूरदर्शन का नेतृत्व करते हैं. हमलोग इस तरह की प्रकृति वाले मामलों को बेहद गंभीरता से लेते हैं और कानून/अनुशासनात्मक नियमों के मुताबिक कड़ी कार्रवाई की जाती है.’

सूत्रों की माने तो पीड़ितों को परामर्श दे रहीं वकील वरुणा भंडारी ने इस बारे में शुक्रवार को बताया कि दूरदर्शन से सात और ऐसी महिला कर्मियों ने उनसे संपर्क किया, जिनके साथ कार्यस्थल पर कथित यौन उत्पीड़न हुआ. इस दौरान भंडारी ने ये भी दावा किया है कि, ‘यौन उत्पीड़न की शिकायतों के 10 में से नौ मामलों पर आंतरिक शिकायत समिति (आईसीसी) ध्यान नहीं देती.’ शिकायत करने वाली तीनों महिलाओं में से एक ने ये भी दावा किया है कि आईसीसी में शिकायत करने के बाद से पिछले आठ महीने से उसे तनख्वाह नहीं मिली.

दूरदर्शन की तीन महिला कर्मचारियों ने लगाए यौन उत्पीड़न के सनसनीखेज आरोप...

पीएम मोदी का बड़ा बयान- 'गंगा की सफाई के लिये साफ नीयत भी जरूरी...'

दिल थामके बैठे भारतीय, इस दिन आ रही है BMW X7

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -