प्रणव के पिता ने अर्जुन के सेलेक्शन को ठहराया सही, बोले- यह सचिन को बदनाम करने की साज़िश

नई दिल्ली : वेस्ट जोन की अंडर-16 टीम में सेलेक्ट हुए सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर पर पिछले दिनों से लगातार सवाल उठ रहे हैं. सोशल मीडिया पर भी इसका जमकर विरोध हो रहा है. कहा जा रहा है कि सचिन का बेटा होने के कारन अर्जुन को टीम में शामिल किया गया है , तभी तो फ्लॉप होने पर भी वह टीम है और स्कूल क्रिकेट में 1009* रन बनाने वाले प्रणव धनावाड़े टीम से बाहर. लेकिन प्रणव के पिता प्रशांत धनावाड़े ने इस खबर को गलत करार देते हुए कहा कि टीम का चयन बिल्कुल सही है, क्योकि प्रणव को टीम ने पहले थे ही नहीं तो उसका चयन कैसे होता.

प्रशांत ने कहा कि ये सब खबर सचिन तेंदुलकर को बदनाम करने के लिए उड़ाई जा रही है. गौरतलब है कि प्रणव ने जनवरी में स्कूल भंडारी ट्रॉफी में 323 गेंद पर 129 चौके और 59 छक्के की मदद से 1009* रन की रिकॉर्ड तौर पारी खेली थी.

प्रणव के पिता ने कहा कि प्रणव के रिकॉर्ड बनाने से पहले ही मुंबई अंडर-16 की टीम का चयन हो गया था, जिसमें अर्जुन था प्रणव नहीं और टीम के आधार पर ही वेस्ट जोन की टीम सलेक्ट हुई. उन्होंने कहा कि इसके बाद तो वेस्ट जोन टीम में प्रणव के चयन का तो सवाल ही नहीं बनता.

प्रशांत ने बताया कि मुंबई की अंडर-16 से पहले एक प्यादे ट्रॉफी होती है और उसमें प्रणव नहीं खेल पाया था और उसी ट्रॉफी के आधार पर मुंबई अंडर-16 टीम का चयन हुआ था. उन्होंने कहा कि ये बेकार की अपवाह उड़ाने वालें को टीम चयन की प्रक्रिया के बारे में मालूम नहीं होगा, तभी इस तरह की बेकार अपवाहें उड़ाई.

प्रशांत ने कहा कि अर्जुन और प्रशांत के बीच तुलना करना गलत है . क्योकि अर्जुन बल्लेबाज और गेंदबाज है, जबकि प्रणव विकेटकीपर-बल्लेबाज है। दोनों के बीच तुलना ही नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि बाकी 14 खिलाडिय़ों से प्रणव की तुलना क्यों नहीं की जा रही, सिर्फ अर्जुन से ही तुलना क्यो?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -