केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का बड़ा बयान, लॉकडाउन और पर्यावरण को लेकर कही ये बात

नई दिल्ली: केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण लागू किए गए लॉकडाउन से हमारे पर्यावरण को मिले फायदे आगे सामान्य दिनों में भी जारी रहें, इसके लिए आवश्यक है कि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण नियमों को कड़ाई से लागू करें।

केंद्रीय मंत्री ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखे पत्र में कहा कि कोरोना वायरस से पैदा हुई अप्रत्याशित स्थिति के कारण, औद्योगिक गतिविधि, वाहनों की आवाजाही और निर्माण गतिविधियों में बहुत कमी आई है, जिस वजह से वायु और जल की गुणवत्ता में सुधार हुआ है। केंद्रीय मंत्री ने उनसे इस स्तर को सामान्य दिनों में भी बनाए रखने का प्रयास करने की गुजारिश की। जावड़ेकर ने कहा जब सामान्य जीवन फिर से बहाल होगा, यह वर्तमान पर्यावरणीय लाभ को बरक़रार रखने के लिए अधिक चुनौतीपूर्ण हो जाएगा, किन्तु हमारे पास यह साबित करने का मौका है कि सामान्य गतिविधियों के दौरान भी हमारे पास बहुत बेहतर पर्यावरण हो सकता है।

जावड़ेकर ने आगे कहा कि, " यह एक चुनौती है, जिसे प्रदेश के अधिकारी पर्यावरणीय मानदंडों और प्रदूषण को नियंत्रित करने वाले नियमों को कड़ाई से लागू करके पूरा करेंगे। हमें अपशिष्ट प्रबंधन, औद्योगिक निर्वहन, नदी की गुणवत्ता और उत्सर्जन का स्तर जैसी चीजों में सुधार पर फोकस करना चाहिए।"

गंगोत्री नेशनल पार्क में बढ़ा दुर्लभ वन्य जीवों का कुनबा

20 लाख करोड़ का राहत पैकेज घोषित करने से पहले सरकार ने किया था यह काम

वित्त मंत्री ने भारतीय कंपनियों के लिए नियम में किया बड़ा बदलाव

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -