प्रद्युम्न मर्डर केसः आखिर कब होगी सीबीआई जाॅंच

नईदिल्ली। रेयान स्कूल में हुए प्रद्युम्न हत्याकांड को लेकर पिंटो परिवार को निराशा का सामना करना पड़ा। हरियाणा - पंजाब उच्च न्यायालय ने पिंटो परिवार की अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। जिसके बाद इस मामले में बुधवार को सुनवाई की जाएगी। न्यायाधीश न्यायमूर्ति एबी चौधरी ने इस मामले में कहा है कि, वे इस याचिका पर सुनवाई नहीं करना चाहते हैं। प्रद्युम्न के पिता वरूण ने राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के आश्वासन पर सवाल किए और कहा कि, जब मुख्यमंत्री खट्टर, परिवार से मिलने पहुॅंचे थे तब तो उन्होंने इस मामले की सीबीआई जाॅंच का आश्वासन दिया था लेकिन, अब तक सीबीआई को केस नहीं सौंपा गया है।

दूसरी ओर प्रद्युम्न के परिवार के वकील सुशील टेकरीवाल ने मामला सीबीआई को सौंपने को लेकर सवाल किए। उन्होंने कहा कि, आखिर इस मामले को सीबीआई के हवाले क्यों नहीं किया जाता। उन्होंने आशंका जताई कि, पिंटो परिवार को बचाने के लिए सरकारी मदद की जा रही है। दूसरी ओर प्रशासन ने अपनी कार्रवाई करते हुए सोमवार को रेयान स्कूल को 24 सितंबर तक बंद कर दिया है जिसे पहले खोल दिया गया था। वहीं हरियाणा के गृह सचिव एसएस प्रसाद ने प्रद्युम्न मर्डर केस की जांच के लिए सीबीआई को पत्र लिखा है।

माना जा रहा है कि, अब यह केस सीबीआई को सौंपा जा सकता है। स्कूल खोले जाने पर प्रद्युम्न के पिता ने नाराज़गी जाहिर करते हुए कहा था कि इससे सबूत प्रभावित हो सकते हैं जो इस मामले से जुड़े हैं। इस मामले में बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने भी स्कूल में कई अनियमितता होने की बात कही थी।

दूसरी ओर हरियाणा सरकार ने मामले को लेकर तीन सदस्यीय जाॅंच दल का गठन किया था, उसने अपनी रिपोर्ट में स्कूल प्रबंधन में बड़े पैमाने पर खामियाॅं पाई थीं। समिति ने रिपोर्ट में उल्लेख किया था कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सीसीटीवी कैमरे खराब पाए गए।

ड्राइवर और कंडक्टर छात्रों के टॉयलेट का ही इस्तेमाल किया करते थे। स्कूल की बाउंड्री वॉल टूटी हुई थी, जिससे स्कूल के अंदर आना जाना बेहद आसान था। स्कूल में काम करने वाले कर्मचारियों का किसी भी तरह का कोई पुलिस वैरिफेकेशन नहीं हुआ था।

गौरतलब है कि कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी कक्षा में अध्ययनरत छात्र प्रद्युम्न ठाकुर के साथ कुकर्म का प्रयास किया गया था। जिसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। मामले में पुलिस ने बस कंडक्टर अशोक कुमार सहित, तीन लोगों को पकड़ लिया था और, आरोपी ने हत्या करने की बात मान ली थी। इस मामले में विद्यालय में पढ़ने वाले अन्य विद्यार्थियों के अभिभावकों व प्रद्युम्न के परिजन ने जमकर हंगामा मचाया था और विरोध प्रदर्शन किया था।

CCTV फुटेज में, रेंगता नज़र आया घायल प्रद्युम्न

नहीं होगी स्कूल की मान्यता रद्द : राम विलास शर्मा

कंडक्टर ने बयान बदला, पुलिस की परेशानी बढ़ी

दाऊद इब्राहिम का भाई,इकबाल कास्कर गिरफ्तार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -