कोरोनारोधी किट के घोटाले में प्रिंसिपल पर गिरी गाज, सामने आए चौकाने वाले तथ्य

Jul 02 2020 04:30 PM
कोरोनारोधी किट के घोटाले में प्रिंसिपल पर गिरी गाज, सामने आए चौकाने वाले तथ्य

कोरोना वायरस का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले लिया है. लेकिन अब कोरोना से संबधित घोटाले भी सामने आ रहे है. जिसमें किटों की हेराफेरी शामिल है. बता दे कि कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों के बचाव के लिए खरीदी गई किटों में हुए कथित घोटाले में जांच शुरू होते ही 24 घंटे के भीतर पंजाब सरकार ने सरकारी मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. सुजाता शर्मा को प्रिंसिपल पद से हटा दिया है. उनके स्थान पर मेडिकल कॉलेज स्थित कैंसर विभाग के प्रभारी डॉ. राजीव देवगण को प्रिंसिपल के पद पर नियुक्ति के आदेश जारी किए हैं. सरकार ने डॉ. सुजाता शर्मा को उनके पुराने विभाग गायनी वॉर्ड के प्रभारी की जिम्मेदारी सौंप दी है.

109 जोड़ी प्राइवेट ट्रेनों की घोषणा पर राहुल गांधी का हमला, बोले- करारा जवाब मिलेगा

इस मामले के सामने आने के बाद सरकार ने बढ़ी कार्यवाही की है. जिसके तहत ​तुरंत प्रभाव से मेडिकल कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल डॉ. वीणा चतरथ को पद से हटा दिया गया है. डॉ. वीणा चतरथ को दोबारा एनेस्थीसिया विभाग भेज दिया गया है. वाइस प्रिंसिपल के पद की जिम्मेदारी डॉ. जगदेव सिंह कुलार को सौंपी गई है. मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर डॉ. शिवचरण को मेडिकल कॉलेज से हटाकर पटियाला सरकारी मेडिकल में स्थानांतरित कर दिया गया है.

भारी बारिश के चलते धंसी खदान, मलबे में दबकर 113 लोगों की दर्दनाक मौत

किट को लेकर घोटाले के सामने आने के बाद मेडिकल शिक्षा एवं खोज विभाग को किरकिरा का सामना करना पड़ रहा है. इसके अलावा सांसद गुरजीत औजला ने कोरोना वायरस के संकट में किट व अन्य उपकरण खरीदने के राशि प्रदान की थी.  यह राशि 1 करोड़ के आसपास बताई जा रही है. जिन पैसों से दो हजार किट्स 41 लाख 43 हजार रुपये में खरीदी गईं थी. वही, मामले में भ्रष्टाचार की भनक लगने पर प्रशासन ने जांच के आदेश दिए थे. जांच का जिम्मा पुड्डा की प्रशासक डॉ. पल्लवी को सौंपा गया है. डॉ. पल्लवी ने मंगलवार को मेडिकल कॉलेज व गुरुनानक देव अस्पताल के बीस डॉक्टरों को तलब कर पूछताछ की थी. इस दौरान यह तथ्य सामने आए कि किट्स घटिया किस्म की थीं. बुधवार को मेडिकल शिक्षा एवं खोज विभाग ने अचानक आर्डर जारी कर प्रिंसिपल डॉ. सुजाता शर्मा को हटा दिया.

मास्क पहनने के लिए कहा तो पुलिस वाले को पीटा, तीन युवक गिरफ्तार

टिक टॉक बैन के बाद इस देसी ऐप को हुआ सबसे ज्यादा फयादा, मिली दो करोड़ की फंडिंग

कोरोना: कर्नाटक में बेड की किल्लत, कुमारस्वामी बोले- तीन महीने से सीएम ने केवल समय बर्बाद किया