क्या वाकई अमेठी सांसद स्मृति ईरानी है लापता ? दीवारों पर लगे पोस्टर

क्या वाकई अमेठी सांसद स्मृति ईरानी है लापता ? दीवारों पर लगे पोस्टर

कई राज्य ने लॉकडाउन 5 में नए नियम के साथ छूट दी है. वही, उत्तर प्रदेश में राजनीति के प्रमुख गढ़ के रूप में विख्यात होने वाले अमेठी में एक बार फिर से पोस्टर वॉर शुरू हो गया है. यहां पर पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के लापता होने से पोस्टर्स लगते थे, लेकिन अब यहां से भाजपा की सांसद तथा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के लापता होने के पोस्टर्स लगे हैं. इसके साथ ही उनसे कई सवाल भी पूछे गए हैं. पोस्टर्स को लेकर कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह ने ट्वीट भी किया है

इस दिग्गज भाजपा विधायक पर लगा भ्रष्टाचार का आरोप

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच में अमेठी में पोस्टर वॉर शुरू हो गया है. यहां पर लापता सांसद स्मृति ईरानी से सवाल पूछने वाले पर्चे तमाम स्थानों पर चस्पा किये गए हैं. जिनमें लिखा गया है कि क्या अब आप अमेठी में सिर्फ कंधा ही देने आएंगी. पर्चे पर किसी का नाम पता नहीं है. वही, अमेठी में पोस्टर चिपकाने की बात आम नहीं है. यहां बड़े नेताओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का सिलसिला जारी रहता है. ऐसे में लोकसभा क्षेत्र में एक बार फिर अमेठी में पोस्टर वार शुरू हो गया है. सोमवार को लोकसभा क्षेत्र अमेठी में सांसद व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ 'लापता सांसद से सवाल' नाम के पोस्टर लगाए गए. पोस्टर में लिखा, अमेठी से सांसद बनने के बाद (साल भर में दो दिन) महज कुछ घंटों में अपनी उपस्थित दर्ज कराने वाली सांसद स्मृति इरानी जी आज करोना महामारी के दर्द से अमेठी की समस्त जनता भयभीत और त्रस्त है हम यह नहीं कहते कि आप गायब हैं.

पंजाब : जानें राज्य में क्या है दुकानें खुलने का समय ?

इसके अलावा पोस्टर में यह भी लिखा गया है कि हमने आपको ट्विटर के माध्यम से अंताक्षरी खेलते हुए देखा है. हमने आपके माध्यम से एकाध व्यक्ति को लंच देते हुए देखा है लेकिन अमेठी के सांसद होने के नाते से आज विपरीत समय में अमेठी की मासूम जनता अपनी आवश्यकता व परेशानियों के लिए आपको ढूंढ रही है. विगत कई महीनों की परेशानियो के बीच में यू ही अमेठी की जनता को निराश्रित छोड़ देना यह दर्शाता है कि शायद अमेठी आप के लिए महज टूर हब है.

इस आयोजन की सफलता से भारत बन सकता है विश्व स्तर पर ताकतवर देश

पीएम मोदी ने इस समारोह का किया उद्घाटन

जानें क्यों मनाया जाता है 'विश्व दुग्ध दिवस' ?