पत्रकार कि हत्या पर BJP ने कहा-बिहार में है महाजंगलराज

पटना : सुरक्षा और सुशासन की बात करने वाली नितीश कुमार के राज्य में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को धराशायी करने की कोशिशे उठने लगी है. एक बार फिर बिहार में जंगलराज देखने को मिला. प्रदेश में शुक्रवार को भी कुछ ऐसा ही हुआ जब सीवान में एक सीनियर जर्नलिस्ट राजदेव रंजन की गोली मारकर हत्या कर दी गई. बदमाशो ने काफी करीब से रंजन को दो गोली मारी जो उनके सिर और गर्दन में लगीं. वारदात को उस समय अंजाम दिया गया जब रंजन ऑफिस से घर लौट रहे थे.

जानकारी के मुताबिक पांच बदमाशो ने रंजन पर हमला किया. जौर्नालिस्ट रंजन जब बाइक से स्टेनश के पास पहुंचे उसी दौरान फ्लाइओवर के पास बदमाशों ने उन्हें रोका और दो गोलियां मारीं. रंजन की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. लोगों ने घटना के बारे में पुलिस को सूचना दी.

बता दे की राजदेव एक हिंदी डेली में ब्यूरो चीफ थे. वह 24 साल से पत्रकारिता कर रहे थे. इस घटना के बाद राजनीति गरमा गई. पत्रकार की हत्या के बाद बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा, यह जंगल राज नहीं, महाजंगलराज है. उन्होंने कहा कि, नीतीश बनारस घूम रहे हैं और बिहार में लोकतंत्र का चौथा स्तंभ खतरे में है. वही बीजेपी के एक और सीनियर नेता सुशील मोदी ने भी कहा, हर कोई बिहार में जंगलराज की वापसी को लेकर डरा हुआ है.

इस घटना पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पत्रकार कि हत्या को दुखद घटना बताया है . और कहा कि आरोपियों पर सख्त कार्रवाई कि जाएगी. जेडीयू नेता अजय आलोक ने कहा, "इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि अपराधी कौन है? सरकार की कोशिश है कि उन्हें 48 घंटे के भीतर पकड़ लिया जाए. इस घटना के बाद बिहार के आईजी ने मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि मामले कि जांच के लिए एक एसपी को रवाना कर दिया गया है. किसी के साथ नाइंसाफी नहीं होगी. आरोपियों को 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिया जाएगा. आपको बता दे कि सीवान को लालू प्रसाद का सबसे मजबूत गढ़ कहा जाता है और यह यह बिहार में माफिया कल्चर के लिए भी बदनाम रहा है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -