इंदिरा मैराथन के भगवाकरण पर कांग्रेस ने किया विरोध

इलाहाबाद। राज्य सरकार ने एक ओर जहां सीएम कार्यालय को केसरिया रंग में रंग दिया, सरकार को लेकर कहा गया कि,राज्य में प्रारंभ की गई कुछ नई बस सेवाओं को भी केसरिया रंग देकर प्रारंभ किया गया वहीं अब यह बात सामने आई है कि, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जन्मदिवस के अवसर पर आयोजित की जाने वाली मैराथन दौड़ के प्रचार - प्रसार के लिए प्रकाशित किए गए,कार्ड तक भगवा रंग के छपवाए गए थे। इस तरह की जानकारी सामने आने के बाद,राज्य में राजनीतिक विवाद गहरा गया है।

गौरतलब है कि,रविवार को ही इलाहाबाद में 33 वीं इंदिरा मैराथन का आयोजन हुआ। जिसमें महिलाओं में महाराष्ट्र की ज्योति शंकर राव प्रथम,गाजीपुर की अनीता द्वितीय और जौनपुर की रानी यादव तीसरे स्थान पर रहीं।पुरुष विजेताओं में पहले स्थान पर,रशपाल सिंह,दूसरे स्थान पर अनिल कुमार और तीसरे पर आनंद सिंह रहे। तीनो इंडियन आर्मी से हैं। इस आयोजन के लिए सरकारी तंत्र ने स्टीकर, प्रतीक चिन्ह, पोस्टर आदि छपवाए थे।

ये सभी भगवा रंग के थे। आयोजकों के सामने कांग्रेस के स्थानीय नेताओं ने इन बातों का विरोध किया। उन्होंने कहा कि यह केवल आश्चर्य है। उन्होंने इस आयोजन के भगवाकरण पर रोष व्यक्त किया है। गौरतलब है कि आयोजन के प्रचार के लिए अपनाए जाने वाले पोस्टर्स व बैनर्स को सफेद रंग से भी रंगा जाता था और संदेश व चित्र किसी और रंग के हुआि करते थे। जबकि इन पोस्टर्स पर व बैनर्स पर तिरंगे का उपयोग भी किया जाता था। मगर इस बार भगवा रंग उपयोग किए जाने को लेकर कांग्रेस ने विरोध जताया है।

यूपी निकाय चुनाव में सपा के बड़े नेता हुए बीजेपी के साथ

आज मथुरा में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे, सीएम योगी आदित्यनाथ

बिल गेट्स पहुंचे यूपी, निवेश को लेकर होगी योगी से चर्चा

प्रदूषण में नं 1 लखनऊ में कृत्रिम बारिश की तैयारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -