नेता नंदमुरि हरिकृ्ष्णा के शव के साथ सेल्फी लेना पड़ा महंगा, चार अस्पताल कर्मचारी नौकरी से बर्खास्त

Sep 01 2018 01:13 PM
नेता नंदमुरि हरिकृ्ष्णा के शव के साथ सेल्फी लेना पड़ा महंगा, चार अस्पताल कर्मचारी नौकरी से बर्खास्त

चेन्नई। 29 अगस्त को एक सड़क दुर्घटना का शिकार हुए नेता नंदमूर्ति हरिकृष्णा के शव के साथ सेल्फी लेना चार अस्पताल कर्मचारियों को महंगा पड़ गया है। इस कृत्य की वजह से इन चारो कर्मचारियों को  नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। 

भव्य तरीके से सम्पन्न हुआ 'शंकर' का मुहूर्त

दरअसल ये चारों कर्मचारी नरकेतपल्ली के कामिनेनी हॉस्पिटल में काम करते है। ये वही अस्पताल है जिसमे मशहूर नेता नंदमूर्ति हरिकृष्णा को उनके भीषण  सड़क दुर्घटना का शिकार बनने के बाद लाया गया था। नंदमूर्ति को हॉस्पिटल के कैजुअल्टी वार्ड में लाए जाने के कुछ समय बाद ही डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। लेकिन जब डॉक्टर वार्ड से बाहर आये उतनी देर में इन चारों कर्मचारियों ने उनके शव के साथ सेल्फी लेनी शुरू कर दी थी। 

इस फल को खाते ही छूमंतर हो जाएगा आपका मोटापा

यह मामला तब सामने आया जब इन कर्मचारियों ने इस सेल्फी को नेट पर कई लोगों के साथ शेयर कर दिया और फिर ये फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। इस अस्पताल के डीजीए श्रीधर रेड्डी ने इस घटना पर दुख जाहिर करते कहा कि वे उस घटना से बेहद शर्मिंदा हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने नंदमूर्ति हरिकृष्णा को बचाने की जितनी कोशिशें कीं थी  वो सब इन कर्मचारियों की इस हरकत की वजह से मिट्टी में मिल गईं है। गौरतलब है कि मशहूर तेलगु अभिनेता और तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी) के नेता नंदमुरि हरिकृ्ष्णा 29 अगस्त के दिन एक भीषण सड़क हादसे का शिकार हुए थे। वे  61 वर्ष के थे। 

ख़बरें और भी 

ट्रम्प से नाख़ुश अमेरिका, लग सकता है महाभियोग

राखी सावंत की इतनी हॉट तस्वीरें आपने पहले कभी नहीं देखी होंगी

चीन द्वारा ब्रह्मपुत्र नदी में भारी मात्रा में पानी छोड़ने से अरुणाचलप्रदेश के तीन जिलों में हाई अलर्ट, बाल-बाल बचे 200 से अधिक लोग

?