मानसिक और शारीरिक थकान से प्रभावित होता है पुलिसकर्मियों का कार्य

Aug 29 2016 03:50 PM
मानसिक और शारीरिक थकान से प्रभावित होता है पुलिसकर्मियों का कार्य

नई दिल्ली : अक्सर पुलिसकर्मियों को आपने देखा होगा कि उनके पेट अधिक बाहर निकले रहते हैं इतना ही नहीं वे कुछ थके हुए से भी लगते हैं आखिर ऐसा क्यों होता है। दरअसल इसका कारण यह सामने आया है कि पुलिसकर्मी अपने कार्य के घंटों से कहीं अधिक कार्य करते हैं पुलिसकर्मियों का कार्य बहुत अधिक समय का और काफी दबाव से भरा होता है। कई बार पुलिसकर्मी मुश्किल हालातों में काम करते हैं। इसका भी उनके उपर असर होता है।

दरअसल पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ब्यूरो की स्टडी में यह बात सामने आई है कि पुलिसकर्मियों पर मानसिक और शारीरीक दबाव होता है। कई बार वे आपातकालीन ड्युटी करते हैं और अक्सर उनकी ड्यूटी कम नींद लेने के साथ होती है। यही नहीं कई बार तो उत्सवों, धार्मिक आयोजनों में अपार जनसैलाब को प्रबंधित करना होता है यही नहीं पुलिसकर्मी कई बार चिड़चिड़े हो जाते हैं।

एक अध्ययन के अनुसार वरिष्ठ अधिकारियों का व्यवहार, शराब का सेवन, मूलभूत सुविधाऐं आदि पुलिसकर्मियों को थका देते हैं। गौरतलब है कि यह बात स्टडी में सामने आई कि मानसिक और शारीरिक थकान के चलते पुलिसकर्मी असहज अनुभव करते हैं। ऐसे 91 प्रतिशत से अधिक पुलिसकर्मी सामने आए हैं जिनका मानना है कि वे अधिक थकान का अनुभव करते हैं।