जाट आंदोलनः पुलिस ने पांच नामजद और 125 अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया

May 28 2016 11:46 AM
जाट आंदोलनः पुलिस ने पांच नामजद और 125 अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया

चंडीगढ़ : जाट आरक्षण आंदोलन की अगुवाई करने वाले जाट नेता यशपाल मलिक समेत पांच नामजद और 125 लोगों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। शुक्रवार को पुलिस ने इन सब पर भड़काऊ भाषण देने और देशद्रोह का मामला दर्ज किया। जाट आंदोलन के बाद से पुलिस द्वारा की गई इस तीसरी कार्रवाई से पहले पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार रहे प्रो.विरेंद्र और दलाल खाप के प्रवक्ता मानसिंह दलाल और छछरौली के पूर्व विधायक रोशनलाल आर्य के खिलाफ पुलिस ने देशद्रोह का मामला दर्ज किया है।

मलिक पर मामला दर्ज करने के लिए पुलिस ने 25 मई को जींद में हुई बैठक को आधार बनाया है। हेड कांस्टेबल सुरेश कुमार नेपुलिस को दी शिकायत में बताया था कि अखिल भारतीय आरक्षण संघर्ष समिति की जिला स्तरीय बैठक हुई। इसमें 100-125 के आसपास लोग पहुंचे।

बैठक में मुख्य वक्ता के तौर पर आए संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक व कई अन्य ने जातीय टिप्पणी करके भड़काऊ भाषण दिया। बैठक में मौजूद लोगों ने भी भड़काऊ भाषण देकर दंगे भड़काने का प्रयास किया। डीएसपी दिनेश यादव ने बताया कि पांच लोगों को नामजद कर व अन्य 125 के खिलाफ 124ए, 153ए (1), 152बी के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इसके साथ ही आगे पुलिस वीडियो व ऑडियो की जांच करेगी। इस वीडियो में जाति और दो लोगों का नाम लेकर बार-बार आपतिजनक टिप्पणी की जा रही है। इस पूरे मामले में मलिक का कहना है कि यह सब जानबूझकर किया जा रहा है। 26 मई को कोर्ट ने आरक्षण पर स्टे लगाया और 27 मई को मुकदमा दायर कर दिया। यह साजिश है, ताकि जाट आंदोलन न कर सकें। लेकिन हम पीछे हटने वालों में से नहीं है।