लुटेरी दुल्हन को पकड़ने के लिए दरोगा बना दूल्हा, पुलिस बनी बाराती !

Jun 02 2016 11:57 AM
लुटेरी दुल्हन को पकड़ने के लिए दरोगा बना दूल्हा, पुलिस बनी बाराती !

उत्तरप्रदेश /आगरा : ताजनगरी आगरा में पिछले दिनों सॉफ्टवेयर इंजीनियर निर्मल सिंह की हत्या शादी के तीसरी रात ही लुटेरी दुल्हन ने जहर देकर कर दी थी और घर में रखे कैश और जेवरात लेकर फरार हो गई थी. हत्या के बाद से ही पुलिस को निर्मल सिंह की दूसरी पत्नी तारा की तलाश थी, पुलिस को तफ्तीश में पता चला की यह निर्मल जैसे कई लोगों जिनकी पत्नी मर चुकी थीं या वे तलाकशुदा थे उनसे शादी कर उन्हें लूट कर फरार हो चुकी है. पुलिस ने हरद्वार, देहरादून, रुद्रप्रयाग, उधम सिंह नगर समेत कई जगह दबिश दी लेकिन कुछ भी हाथ नहीं लगा.

इसके बाद पुलिस ने एक जाल बिछाया. पुलिस को निर्मल सिंह के यहां से सुराग के तौर पर उसकी शादी की फोटो और राशन कार्ड ही मिला था. राशन कार्ड में युवती का नाम तारा था. फोटो में तारा की मां और एक बिचौलिया था. लेकिन जांच में नाम फर्जी पाया गया. और उसकी मां भी गिरोह की सदस्य थी जो मां के रोल के लिए दस हजार रुपये लेती थी. इसके बाद पुलिस ने नकली शादी का नाटक रचा. कई जगहों पर लुटेरी दुल्हन की तलाश के बाद पुलिस के हत्थे एक शख्स चढ़ा जिसने बताया युवती का नाम तारा नहीं रुबीना है और काशीपुर में रहती  है.

पुलिस ने मुखबिर की मदद से उसके घर पर संपर्क किया. उसके बाद दरोगा संजीव कुमार दूल्हे के भेष में और सिपाही बाराती बन घर पहुंच गए. उसके बाद सभी एक होटल पहुंचे और वहां उसके फोटो का मिलान कर कन्फर्म किया गया. फिर उससे कहा गया शादी देहरादून में होगी. इसके बाद पुलिस ने आरोपी दुल्हन को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस को रुबीना ने बताया कि निर्मल को उसने बेहोशी की दावा दी थी लेकिन न जाने कैसे वह मर गया. फ़िलहाल आरोपी महिला तारा उर्फ रूबीना उर्फ सोनू चौहान को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया.