POK में पाक का विरोध, नागरिकों को दे रहा यातनाऐं

Sep 30 2015 12:29 PM
POK में पाक का विरोध, नागरिकों को दे रहा यातनाऐं

इस्लामाबाद : आखिरकार पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में भी विकास की बात उठने लगी। इस दौरान यहां के निवासी पाकिस्तान के ही विरूद्ध नारेबाजी करते रहे। इस दौरान उन्होंने स्वतंत्रता और बुनियादी अधिकार की मांग की। इन लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया और क्षेत्र में विकास का कार्य न होने के कारण नाराज़ हो गए। लोगों द्वारा रोजगार और बुनियादी अधिकार को लेकर आवाज़ उठाई गई। दरअसल पाकिस्तान द्वारा यहां के आवाम की आवाज़ को दबाने का प्रयास किया गया। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन किए गए।

यही नहीं मुजफ्फराबाद, गिलगित और कोटली समेत कई क्षेत्र ऐसे थे जहां लोग पाकिस्तान के खिलाफ खुलकर सड़कों पर उतरे ये लोग यहां पर विकास कार्य किए जाने की मांग कर रहे थे। पाकिस्तान द्वारा अपने कब्जे में लिए गए इस क्षेत्र को लेकर अक्सर पाकिस्तान झूठ ही पनपता जा रहा है। दरअसल यहां निवास करने वाले लोग पाकिस्तान और पाकिस्तानी सेना के आतंक से तंग आ गए हैं। लोगों द्वारा खुद को गुलाम बाशिंदे कहा जाता रहा है। यह भी कहा जा रहा है कि पाकिस्तानी पुलिस और सेना के जवान यहां रहने वाली स्त्रियों को अपने कैंपों में उठाकर ले जाते हैं। इन कैंपों में इन महिलाओं को यातनाऐं दी जाती हैं।

जुल्म की इस कहानी को बता पाना बहुत मुश्किल है। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के लोगों द्वारा कहा गया है कि कश्मीर कानून की नज़र से पाकिस्तान का क्षेत्र नहीं है। दरअसल यहां निवास करने वाले युवा रोजगार की तलाश में रहते हैं। उनके पास नौकरी नहीं है। इनका जीवन आगे बढ़ता नज़र नहीं आता। इनका भविष्य अंधकार में दिखाई देता है। दूसरी ओर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को लेकर पाकिस्तान द्वारा भारत की अलग ही कहानी कही जाती है। यहां के हालत ऐसे हैं कि यहां के लोगों को छोटे-छोटे अधिकार भी नहीं दिए गए हैं। दरअसल यहां वे हुर्रियत और अन्य अलगाववादियों के जोर पर वैमनस्य फैलाने का प्रयास कर रहे हैं।