पीएम मोदी बोले- घोटालों की भेंट चढ़ गए बिहार के विकास कार्य, लोगों ने दशकों तक सहा दर्द

पीएम मोदी बोले- घोटालों की भेंट चढ़ गए बिहार के विकास कार्य, लोगों ने दशकों तक सहा दर्द

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज मंगलवार को बिहार में नमामि गंगे से संबंधित कई प्रोजेक्ट्स का शुभारंभ किया. पीएम मोदी ने इस दौरान अपने संबोधन में कहा कि राष्ट्रनिर्माण के इस काम में बिहार का भी काफी बड़ा योगदान है, बिहार तो देश के विकास को नई ऊंचाई देने वाले लाखों इंजीनियर देता है. पीएम मोदी ने कहा कि बिहार की धरती तो आविष्कार और इनोवेशन की पर्याय रही है, बिहार के कितने ही बेटे हर साल देश के सबसे बड़े इंजीन्यरिंग संस्थानों में पहुँचते हैं, अपनी चमक बिखेरते हैं। 

पीएम मोदी ने कहा कि एक दौर ऐसा आया, जब बिहार में मूल सुविधाओं के निर्माण के बजाय, प्राथमिकताएं और प्रतिबद्धतताएं बदल गईं। राज्य में गवर्नेंस से फोकस ही हट गया। इसका परिणाम ये हुआ कि बिहार के गांव पिछड़ते गए और जो शहर कभी समृद्धि का प्रतीक थे, उनका इंफ्रास्ट्रक्चर अपग्रेड हो ही नहीं पाया। उन्होंने कहा कि, सड़कें हो,  गलियां हों, पीने का पानी हो,  सीवरेज हो,  ऐसी अनेक मूल समस्याओं को या तो टाल दिया गया या फिर जब भी इनसे जुड़े काम हुए वो घोटालों की भेंट चढ़ गए। पीएम मोदी ने कहा कि जब शासन पर स्वार्थनीति हावी हो जाती है, वोटबैंक का तंत्र सिस्टम को दबाने लगता है,  तो सबसे ज्यादा असर समाज के उस वर्ग को पड़ता है,  जो प्रताड़ित है, वंचित है, शोषित है। बिहार के लोगों ने इस दर्द को दशकों तक सहा है। 

पीएम मोदी ने कहा कि बीते डेढ़ दशक से नीतीश जी, सुशील जी और उनकी टीम समाज के सबसे कमज़ोर वर्ग के आत्मविश्वास को लौटाने का प्रयास कर रही है। जिस प्रकार बेटियों की पढ़ाई को, पंचायती राज सहित स्थानीय निकाय में वंचित, शोषित समाज की भागीदारी को प्राथमिकता दी गई है, उससे उनका आत्मविश्वास बढ़ रहा है । 

दुनियाभर में कोरोना का आतंक, बढ़ रहा है कोने कोने में मातम

कोरोना मामले बढ़ने से देश में ऑक्सीजन की किल्लत, केंद्र को जारी करना पड़ा ये आदेश

पूर्व मुख्यमंत्री नायडू को इनसाइडर ट्रेडिंग के आरोपों का करना पड़ा सामना