विकास के लिए देश को आगे बढ़ने दें और संसद को चलने दें : PM नरेंद्र मोदी

Sep 10 2015 10:38 AM
विकास के लिए देश को आगे बढ़ने दें और संसद को चलने दें : PM नरेंद्र मोदी

भोपाल : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज भोपाल में आयोजित किए जा रहे 10 वें विश्व हिंदी सम्मेलन में शामिल होने पहुंचे। इस दौरान मप्र सरकार द्वारा उनकी अगवानी की गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच अपने उद्बोधन में कहा कि एनडीए की सरकार जब नहीं थी तब हमने मंथन किया था। अपनी कमियों को दूर करने का प्रयास किया था मगर औरों को दोष नहीं दिया और फिर हमारी सरकार अस्तित्व में आई।

मैं जनता के आशीर्वाद को नमन करता हूं। लोकतंत्र में राजनीतिक दल का कर्तव्य होता है कि जय में जनता जनार्दन के लिए खप जाना पड़ता है जब हार मिले तो लोकतंत्र में जनता जनार्दन के लिए कैसे लगना है इसका मंथन करना होता है। मगर आज देश में निर्णय आगे बढ़ने चाहिए और संसद चलनी चाहिए। मगर एक है कि मानता नहीं है। 

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहाँ 32 वर्षों बाद आयोजित होने वाले विश्व हिंदी सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे है. मोदी ने कहा कि एनडीए सरकार जनता की बेहतरी के लिए कार्य कर रही है लेकिन इसे संसद में कार्य करने नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आखिर मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि संसद क्यों नहीं चलने दी जा रही है। जिन्हें जनता ने नकारा है, उनसे आग्रह है कि विश्व आर्थिक संकट से जूझ रहा है।

भारत के लिए यह आगे बढ़ने का अवसर है। संसद को आगे बढ़ने दें और निर्णयों को आगे बढ़ने दें। उन्होंने कहा कि कालेधन पर सरकार ने जो काम किया है उससे हवालाबाजों को कारों के नीचे जमीन दिखने लगी है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की मर्यादा का पालन करने में जनता जनार्दन की उम्मीद को पूरा करने में कोई कसर शेष नहीं रखी जाएगी।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुद्रा बैंक का उल्लेख करते हुए कहा कि जनता को ब्याजखोरों के चंगुल से मुक्ति देने के लिए एक बैंक अलग से तैयार की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने उद्बोधन में जनता की मौजूदगी पर खुशी जताते हुए प्रधानमंत्री जनधन योजना और घरेलू गैस सब्सिडी को बैंक खाते में अंतरित करने की योजना पर भी विस्तार से लोगों को संबोधित किया।