सरदार पटेल की प्रतिमा का उद्देश्य, नेहरू का अनादर नहीं - पीएम मोदी

सरदार पटेल की प्रतिमा का उद्देश्य, नेहरू का अनादर नहीं - पीएम मोदी

गांधीनगर: पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरवार को गुजरात के अमरेली में एक चुनावी जनसभा में कहा है कि गुजरात में सरदार वल्लभभाई पटेल की भव्य प्रतिमा देश के पहले पीएम जवाहरलाल नेहरू का 'अनादर करने' के लिए नहीं बनाई गई है. पीएम मोदी ने यहां एक चुनावी रैली को सम्बोधित करते हुए कहा कि हालांकि कांग्रेस कहती है कि पटेल उनके नेता हैं, किन्तु पार्टी का कोई नेता अभी तक उनकी मूर्ति देखने नहीं गया है.

पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा कि, 'जब आप गूगल पर विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा सर्च करते हैं, तब स्टैच्यू ऑफ यूनिटी और गुजरात का नाम सामने आने पर क्या आपको गर्व की अनुभूति नहीं होती.' मोदी ने ज्यादातर भाषण गुजराती में दिया. उन्होंने कहा कि, 'मैंने पंडित नेहरू का अनादर करने के लिए सरदार पटेल की प्रतिमा का निर्माण नहीं करवाया. सरदार पटेल का कद इतना ऊंचा है कि आपको दूसरों को उनसे छोटा दिखाने के लिए बहुत अधिक प्रयास करने की आवश्यकता ही नहीं है.'

उल्लेखनीय है कि पीएम मोदी ने नर्मदा नदी पर साधु बेट द्वीप में सरदार पटेल को समर्पित ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का गत वर्ष 31 अक्टूबर को अनावरण किया था. 2,389 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित की गई यह मूर्ति 182 मीटर ऊंची है. पीएम मोदी ने कहा है कि उनकी सरकार ने आतंकवाद को जम्मू-कश्मीर के मात्र 'ढाई' जिलों तक समेट दिया है और देश के किसी अन्य हिस्से में गत पांच वर्षों में कोई बम धमाका नहीं हुआ.

खबरें और भी:-

लोकसभा चुनाव: अखिलेश यादव ने भरा नामांकन, कहा- वो चायवाले तो हम भी दूधवाले

एमिटी यूनिवर्सिटी के हॉस्टल सुपरवाइजर ने की ख़ुदकुशी, पेड़ पर लटकी मिली लाश

चुनाव को लेकर कन्हैया कुमार का बड़ा बयान, कहा- ये पढ़ाई और कढ़ाई के बीच की लड़ाई