'तिलांजलि सभा' में जेपी, लोहिया के आदर्शो को चेलों ने तिलांजलि दे दी : मोदी

'तिलांजलि सभा' में जेपी, लोहिया के आदर्शो को चेलों ने तिलांजलि दे दी : मोदी

भागलपुर : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां मंगलवार को कहा कि बिहार में 25 वर्षों तक राज करने वालों को इस विधानसभा चुनाव में इस अवधि का हिसाब देना चाहिए, परंतु वे केन्द्र सरकार से हिसाब मांग रहे हैं। मोदी ने पटना के गांधी मैदान में महागठबंधन द्वारा रविवार को आयोजित 'स्वाभिमान रैली' को 'तिलांजलि सभा' बताते हुए कहा कि इस रैली में जय प्रकाश, राम मनोहर लोहिया और कर्पूरी ठाकुर के आदशरे को उनके ही चेलों ने तिलांजलि दे दी। भागलपुर के हवाईअड्डा मैदान में प्रधानमंत्री ने परिवर्तनन रैली को संबोधित करते हुए किसी का नाम लिए बिना कहा, "लोहिया जीवनभर कांग्रेस के खिलाफ लड़ते रहे। देश को बचाने के लिए जेल जाते रहे, परंतु उनके चेले सत्ता के लिए गांधी मैदान में उनके साथ बैठे थे, जिनका लोहिया ने जीवनभर विरोध किया।"

उन्होंने सवाल किया कि ये कौन-सा सिद्घांत है, कौन-सी नीति है। प्रधानमंत्री ने कहा, "जयप्रकाश नारायण (जेपी) ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई छेड़ी थी, तब कांग्रेस की सरकार ने जेपी को जेल में बंद कर दिया था। पूरे देश को जेलखाना बना दिया था, जेपी की जेल में ऐसी हालत की गई कि बीमार हो गए और हमें उन्हें खोना पड़ा।" उन्होंने कहा कि आज उन्हीं के चेले उसी कांग्रेस के लोगों ने उन्हीं के साथ उसी गांधी मैदान में बैठे थे, जिस गांधी मैदान से उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई शुरू की थी।

उल्लेखनीय है कि रविवार को गांधी मैदान में जनता दल (युनाइटेड), कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) गठबंधन ने 'स्वाभिमान रैली' आयोजित की थी, जिसमें सोनिया गांधी, लालू प्रसाद, नीतीश कुमार सहित कई नेताओं ने हिस्सा लिया था।