उगादी कार्यक्रम में पहुंचे PM मोदी, बिखरा संस्कृति का शानदार नज़ारा

नईदिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिंदू पंचांग के नववर्ष, वर्ष प्रतिपदा को लेकर लोगों को शुभकामनाऐं दीं। उन्होंने कहा कि त्यौहार प्रकृति के बदलने का एक प्रतीक है। उनका कहना था कि संस्कृति और परंपराओं से हम सभी जुड़े हैं। भारत चमक भारत की पहल का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आगामी पीढ़ियों को कई राज्यों और संस्कृतियों की विविधता को समझने में सक्षम होना होगा। भारतीयों में एकता की भावना बेहद मजबूत होगी।

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उगादी मिलन समारोह में उपस्थितों को संबोधित कर रहे थे। यह आयोजन केंद्रीय मंत्री एम वैंकेया नायडू के आवास पर हुआ था। समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भावी पीढ़ियों को विभिन्न राज्यों और अन्य संस्कृतियों की विविधता को समझने में योग्यता प्रदान करेगा। समारोह में कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किए गए जटायु मोक्षम की सराहना की गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकवाद से लड़ने वाले जटायु का संघर्ष सभी के लिए प्रेरणादायी था।

गौरतलब है कि जटायु ने रामायणकाल में रावण के आतंक के खिलाफ श्री राम के साथ युद्ध में भागीदारी की थी। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री एम वैंकेया नायडू ने कहा कि भारतीय कैलेंडर के अनुसार उगादी नववर्ष का प्रारंभ होता है। इसे संपूर्ण भारत में ही मनाया जाता है। उनका कहना था कि भारतीय संस्कृति अद्वितीय और सभ्य थी।

प्रत्येक त्यौहार में विज्ञान था उनका कहना था कि नववर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में समृद्धि लेकर आए। इस समारोह में कई कलाकारों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं। इस समारोह में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, अध्यक्ष दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, कानून एवं न्याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद, पर्यटन और संस्कृति मंत्री महेश शर्मा,  मंत्री डाॅ. हर्षवर्धन, खेल और युवा मामले के मंत्री विजय गोयल, राज्य मंत्री कर्नल बीके राठौर आदि मौजूद थे।

PM मोदी टाईम मैग्ज़ीन के टाॅप 100 प्रभावशाली लोगो में शामिल

धमकी भरा खत मिलने के बाद प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा बढ़ाई

अनाथ बच्चों ने लिखा PM मोदी को पत्र, की नोटबदलने की मांग

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -