पीएम मोदी ने अपनी माँ के लिए लिखी थी कविता, पढ़कर आप भी हो जाएंगे भावुक

पीएम मोदी ने अपनी माँ के लिए लिखी थी कविता, पढ़कर आप भी हो जाएंगे भावुक

नई दिल्ली: भारत के पीएम नरेंद्र मोदी इस 17 सितंबर को 69 वर्ष के हो रहे हैं. जब से वह देश के पीएम बने हैं तब से विश्व में भारत का मान तेजी से बढ़ा है. विश्व के ताकतवर और शीर्ष नेता उनके साथ खड़े होने में स्वयं को गौरवान्वित महसूस करते हैं. पीएम मोदी को विश्व का एक ताकतवर नेता के साथ-साथ संवेदनशील नेता के रूप में भी पहचाना जाता है.

पीएम मोदी देश के साथ-साथ देश के लोगों के लिए भी बेहद संवेदनशील हैं. उनकी संवेदनशीलता का अनुमान इस बात से भी लगाया जा सकता  है कि उन्होंने एक जमाने में अपनी मां के लिए कविता लिखी थी. पीएम मोदी की यह कविता पढ़ने वाले के दिल को छू जाती है. इस कविता को पढ़कर आप भी निश्चित ही भावुक हो जाएंगे. वर्ष 2015 में 'साक्षी भाव' नाम से पीएम मोदी का हिन्दी कविता संग्रह प्रकाशित हुआ था. इस संग्रह में पहली कविता मां पर थी. पीएम मोदी ने इन कविताओं के संबंध में लिखा था कि ये उन्होंने आत्मसुख के लिए लिखी थीं.

माँ, तेरी कैसी अजब कृपा है
देख न, चार दिन हो गए
भोजन और नींद दोनों ही उपलब्ध नहीं
किसी परिस्थिति के कारण
फिर भी थकावट जैसा कुछ लगता नहीं है.
अरे, कल की रात तो
निपट नींद के बिना ही बिताई
फिर भी प्रसन्नता का अनुभव करता हूँ
सच में, यह सब तेरी कृपा के बिना संभव है क्या?

IIFFB 2019 : 60 की उम्र में कहर बरपा रही नीना गुप्ता, जीत लाई दो अवॉर्ड

Belgian International Challenge: लक्ष्य सेन बने चैंपियन, दूसरी रैंकिंग के खिलाड़ी को दी शिकस्त

ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने पीयूष गोयल को पत्र लिखकर की यह मांग