जो 60 साल में कुछ नहीं कर पाए वो चाहते है मैं 15 महीने में सब कुछ करू

Jan 19 2016 02:06 PM
जो 60 साल में कुछ नहीं कर पाए वो चाहते है मैं 15 महीने में सब कुछ करू

कोकराझार : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोकराझार में उपस्थितों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि वे लोगों से कंधे से कंधा मिलाने के लिए आए हैं। उन्होंने कहा कि वे नौजवान हैं, वे ऊंचाईयों को पार करें। उन्होंने चुनाव प्रचार की शुरूआत करते हुए कहा कि मैं ऐसे समय आया हूं जब यहां एकता का सद्भाव फैला है। उन्होंने कहा कि वे लोगों का जमकर स्वागत करते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दिल में आप भी समा गए हैं। दिल घुल गया और आप भी घुल गए हैं।

उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जो वादे 12 और 15 वर्षों से किए गए थे उन्हें अब पूरा किया जाएगा। उनका कहना था कि आप हर बार वादे करें और वादे को भूला दें तब जाकर गुस्सा प्रकट होने लगता है। इस तरह से गुस्से का यह लक्षण है। उन्होंने कहा कि यह नाराज़गी का प्रदर्शन है कि आपके साथ किस तरह का धोखा किया गया।

उन्होंने कहा कि आसाम में 15 वर्ष कांग्रेस का कार्यकाल रहा। हालांकि 60 वर्षों से कांग्रेस का ही कार्यकाल रहा है। मगर यदि 15 वर्षों की बात की जाए तो जिन्होंने अपने काम का हिसाब देना चाहिए वे सवाल पूछ रहे हैं। जब प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र आसाम हो तो फिर राज्य के विकास की संभावनाऐं बढ़ जाती हैं जब मुख्यमंत्री भी समर्थित हो तो फिर तो विकास होना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य में विकास न होने की बात की और कहा कि जो 60 वर्षों में कुछ नहीं कर पाए तो भी मुझसे उम्मीद कर रहे हैं कि 15 महीने में मैं वह सभी करूं।

यह सब आपको गुमराह करने के लिए किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि असम की बोडो जनजाति को और अन्य जातियों को एसटी के दायरे में लिए जाने का मसला लंबित है। यह मसला कैबिनेट में कुछ वर्षों में रखा जाएगा जिसके बाद इसे संसद में पारित किया जाएगा। उन्होंने घोषणा की कि कोकराझार के केंद्रीय तकनीकी विश्वविद्यालय को डीम्ड विश्वविद्यालय का दर्जा दिया जाएगा। इससे इस संस्थान को बल मिलेगा।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र का रूपसी एयरपोर्ट विकसित किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एयरफोर्स के लिए सुविधाऐं जुटाने की बात भी कही। घोषणाओं का पिटारा खोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोकराझार से रेल सेवा प्रारंभ किए जाने की घोषणा भी की। उन्होंने भ्रष्टाचार की बात करते हुए असम के लोगों के लिए पारदर्शी कार्य करने की बात भी कही। उल्लेखनीय है कि असम में इस वर्ष चुनाव होने हैं। जिसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी रैली को संबोधित करने के लिए असम के कोकराझार पहुंचे थे।