स्किल डेवलपमेंट से होगा गरीब का विकास : मोदी

Sep 18 2015 12:13 PM
स्किल डेवलपमेंट से होगा गरीब का विकास : मोदी

वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। इस दौरान उनका भव्य स्वागत किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अपने संसदीय क्षेत्र में पहुंचते ही लोगों में उत्साह बढ़ गया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह कार्यक्रम एक ऐसी शुभ शुरूआत है जो काशी के भाग्य को बदलेगा। यहां के गरीब के जीवन में यदि हम थोड़ा सा आवश्यक बदलाव ला दें, जीवन में टेक्नोलाॅजी का प्रवेश करें तो गरीब से गरीब व्यक्ति कम परिश्रम कर ज़्यादा कमा सकता है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज यहां बैंक की सुविधाऐं ली जा रही हैं। गरीब को आत्मनिर्भर बनाने की ओर अग्रसर किया जा रहा है। पिछले कई सालों से इस बात को सुनते आ रहे हैं कि गरीबी को हटाओ, हमारे यहां राजनीति करते समय सुबह शाम गरीबों की माला जपते रहना परंपरा बन गई है। इस परंपरा से बाहर आने की आवश्यकता है। प्रत्यक्ष रूप से गरीबों को साथ लेकर गरीबी से मुक्ति का अभियान चलाया जा सकता है यह विचार करें।

गरीब के जीवन में जो बदलाव आना चाहिए था वह बदलाव नहीं ला पाए थे। उन्होंने कहा कि वे किसी दल या सरकार को दोष नहीं देना चाहते हैं मगर कुछ अच्छा करने की दिशा में गरीबों का कल्याण करने के लिए मूलभूत वातावरण फोकस करना जरूरी है। गरीब मेहनत करने को तैयार है ऐसा क्या करें इस बात का विचार किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि गरीब से गरीब को भी सम्मान का जीवन देना चाहते हैं। आखिर उसे पूरा कैसे किया जाए। यदि थोड़ा सा स्कील डेवलपमेंट कर दिया जाए तो वह अधिक कमाना प्रारंभ कर देता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि स्किल डेवलपमेंट के माध्यम से गरीब का विकास तो होता ही है वह देश की अर्थनीति में भागीदार भी बनता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिक्शा चालकों से भेंट करने के प्रसंग का उल्लेख करते हुए कहा कि रिक्शा चालक ने जिस तरह से अपनी बात रखी वह अच्छी लगी। रिक्शावालों में आत्मविश्वास बढ़ा है। उन्होंने कहा कि काशी में टूरिज़्म बढ़ता है। टूरिस्ट आते हैं उनका परिचय सबसे पहले रिक्शा चालकों से होता है।

यहीं से टूरिस्ट का परिचय होता है। इसलिए रिक्शा चालकों के लिए ट्रेनिंग रखी गई। उन्होंने कहा कि चीजें छोटी-छोटी होती हैं लेकिन वे बहुत बड़ा बदलाव लाती हैं। यात्रियों की सुविधा को कैसे स्थान दिया जाए। इन बातों का इसमें समावेश है। उन्होंने कहा कि इन लोगों में वे लोग हैं जिनके पास कभी कोई रिक्शा नहीं था। 

ऐसे लोगों को भी लाभ हुआ है। रिक्शा वालों को ब्याज की भारी रकम चुकाने से मुक्ति मिली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस तरह के परिवारों को गरीबी से मुक्ति मिलेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की कि रिक्शा चालकों और सभी से अपील है कि कितनी भी तकलीफ क्यों न हो मगर बच्चों को पढ़ाई से दूर मत रखना। सबसे महत्वपूर्ण है अपनी संतानों को शिक्षा देना। बच्चों को पढ़ाने के विषय में किसी तरह का समझौता न किया जाए। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री यहां कई कार्यक्रमों में भागीदारी करेंगे इस दौरान वे ईरिक्शा और साईकिल रिक्शा का वितरण करेंगे।