पीएम मोदी ने अंतिम दिन सदन को किया सम्बोधित, कहा हमारे कार्यकाल में पास हुए 203 बिल

पीएम मोदी ने अंतिम दिन सदन को किया सम्बोधित, कहा हमारे कार्यकाल में पास हुए 203 बिल

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट सत्र के अंतिम दिन बुधवार को संसद को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया और साथ ही उन पलों को भी याद किया, जिसके कारण संसद का सदन मीडिया में छाया रहा। पीएम मोदी ने दोनों सदनों के सांसदों का कार्यवाही के लिए शुक्रिया अदा किया और हल्के अंदाज में राहुल गांधी पर कटाक्ष भी किया।

AMU में फिर लगे देशद्रोही नारे, 14 छात्रों पर राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज

पीएम मोदी ने कहा कि पहली दफा मुझे पता चला कि गले मिलना और गले पड़ना में क्या फर्क होता है। पहली मर्तबा मैंने देखा कि सदन में आंखों से गुस्ताखियां भी होती हैं। पीएम मोदी ने कहा है कि, 2014 में मैं भी उन सांसदों में से एक था जो पहली दफा सदन में आए थे। मुझे संसद के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। हर चीज को मैं बड़ी जिज्ञासा से देख रहा था। क्योंकि यह गली यह मेरे लिए नई थी, मेरे लिए प्रत्येक चीज यहां नई थी। लगभग तीन दशक बाद एक पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनी थी। 16वीं लोकसभा में 100 प्रतिशत से अधिक काम हुआ है।

AAP की महारैली में जुटा विपक्ष, सिसोदिया बोले- देश को बचाने के लिए एक हो चुकी तमाम पार्टियां

विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा है कि, हम कभी-कभी सुनते थे कि भूकंप आने वाला है, 5 साल में कोई भूंकप नहीं आया। उन्होंने कहा है कि, इस संसद के मेंबर जब जनता के मध्य जाएंगे, तो वे गर्व से इन 5 सालों में सदन द्वारा कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ बनाए गए कानूनों के बारे में बता सकेंगे। 5 वर्षों में हमने 203 बिल पास किए, शत्रु संपत्ति पर कानून, गरीब सवर्णों के लिए आरक्षण, ओबीसी कमिशन का निर्माण आदि काम इसी संसद में हुआ है। कालेधन के विरुद्ध कानून इसी सदन में बना, बेनामी संपत्ति, दिवालिया कानून आदि सभी इसी संसद में बना है।

खबरें और भी:-

संसद में पीएम मोदी का चुनाव से पहले अंतिम भाषण, सरकार की उपलब्धियों का किया बखान

मोदी के भाई ने भी भरी हुंकार, कहा- अबकी पार 300 पार

CAG रिपोर्ट के बाद फिर बरसे राहुल, कहा-इतिहास में पहली बार संसद में कैग ने संख्या घटाई