भारी भरकम राहत पैकेज से साथ पीएम मोदी ने जनता को दिलाई हिम्मत, कही यह बात

लॉकडाउन और कोरोना वायरस की वजह से पस्त आम जनता और त्रस्त उद्योग जगत को जिस भरोसे की जरूरत थी, उसे पूरा करने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोई कसर नहीं छोड़ी है. कोरोना महामारी फैलने के बाद से पांचवी बार देश की जनता को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने देश को आत्‍मनिर्भर बनाने के साथ साथ कोरोना संकट से भी निपटने की राह दिखाई. पीएम मोदी ने 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा की है साथ ही भावी कदमों का संकेत दिया जो आने वाले वर्षों में ना केवल देश के आर्थिक ढांचे को बदलने वाला होगा बल्कि इसका व्यापक कूटनीतिक असर भी देखने को मिलेगा. 

अब गाँव-गाँव में रोज़गार देगी मोदी सरकार, कृषि को बढ़ावा देने के लिए बनाया ये प्लान

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने बताया कि दुनियाभर में कोरोना से पौने तीन लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. भारत में भी लोगों ने अपने स्वजन खोए हैं. मैं सबके प्रति संवेदना व्‍यक्‍त करता हूं. प्रधानमंत्री ने कहा, ' एक वायरस ने दुनिया को तहस-नहस कर दिया है. दुनियाभर में करोड़ों जिंदगियां संकट का सामना कर रही हैं. हमने ऐसा संकट न देखा है, ना ही सुना है लेकिन थकना, हारना, टूटना और बिखरना, इंसान को मंजूर नहीं है. सतर्क रहते हुए, सभी नियमों का पालन करते हुए, हमें अब बचना भी है और आगे भी बढ़ना है. ऐसे में जब दुनिया संकट में है हमको अपना संकल्प और मजबूत करना होगा. हमारा संकल्प इस संकट से भी विराट होगा. 

पीएम मोदी का देश के नाम सम्बोधन- हो सकता है बड़े राहत पैकेज का ऐलान

इसके अलावा आर्थिक पैकेज की रूपरेखा बताने के साथ ही पीएम मोदी ने यह भी बताया कि लॉकडाउन पूरी तरह से अभी नहीं हटाया जाने वाला है. लॉकडाउन का चौथा चरण पूरी तरह से नए रंग-रूप और नियमों वाला होगा. इस बारे में राज्यों से सुझाव मांगे गए हैं. 18 मई से पहले ही इस बारे में घोषणा कर दी जाएगी. पीएम मोदी ने कहा कि हम पिछली शताब्दी से ही सुनते आए हैं कि 21वीं सदी हिंदुस्तान की है लेकिन कोरोना ने हमें वैश्विक व्यवस्थाओं को विस्तार से देखने-समझने का मौका दिया है. कोरोना से पहले और बाद के कालखंडों को भारत के नजरिए से देखें तो लगता है कि 21वीं सदी भारत की होगी... यह हमारा सपना नहीं, हम सभी की जिम्मेदारी भी है. इसका रास्‍ता एक ही है- आत्मनिर्भर भारत.

पीएम मोदी की जनता से अपील - लोकल के लिए 'Vocal' बनें, स्थानीय प्रोडक्ट्स ही खरीदें

20 लाख करोड़ का हुआ आर्थिक पैकेज, पीएम मोदी ने किया ऐलान

पीएम मोदी बोले- जब पृथ्वी को माँ मानने वाली भारत भूमि आत्मनिर्भर बनती है, तो विश्व समृद्ध होता है

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -