प्रधानमंत्री मोदी इस दिन करेंगे ‘उत्कल केसरी’ किताब का विमोचन, ‘ओडिशा इतिहास’ का है हिंदी अनुवाद

Apr 07 2021 04:40 PM
प्रधानमंत्री मोदी इस दिन करेंगे ‘उत्कल केसरी’ किताब का विमोचन, ‘ओडिशा इतिहास’ का है हिंदी अनुवाद

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी शुक्रवार यानी 9 अप्रैल को ‘उत्कल केसरी’ हरेकृष्ण महताब की ओर से लिखी गई पुस्तक ‘ओडिशा इतिहास’ का हिंदी अनुवाद जारी करेंगे। पीएम दफ्तर की तरफ से जारी एक बयान के अनुसार, हरेकृष्ण महताब फाउंडेशन की तरफ से अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित किए जा रहे एक कार्यक्रम के चलते प्रधानमंत्री मोदी इस किताब का विमोचन करेंगे। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान तथा कटक से बीजू जनता दल के सांसद भर्तृहरि महताब भी उपस्थित रहेंगे।

‘ओडिशा इतिहास’ डॉ। हरेकृष्ण महताब की सबसे अधिक पसंद की जाने वाली पुस्तकों में से एक है। ये पुस्तक ओड़िया तथा अंग्रेजी भाषा में पहले से ही मौजूद है तथा इसका हिंदी अनुवाद शंकरलाल पुरोहित ने किया है। इससे पूर्व प्रधानमंत्री मोदी मार्च माह में स्वामी चिद्भवानंदजी की भगवद गीता का किंडल वर्जन लॉन्च तथा इससे भी पहले भगवद गीता के श्लोकों पर 21 विद्वानों की टिप्पणियों वाली पांडुलिपि के 11 खंडों का विमोचन कर चुके हैं।

हरेकृष्ण महताब एक स्वतंत्रता सेनानी थे तथा वह ओड़िशा के पहले सीएम भी थे। वह 1946 से 1950 तक ओडिशा के सीएम रहे। वह संविधान सभा के सदस्य तथा भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के बड़े राजनेताओं में से एक थे। उन्हें लोकप्रिय उपाधि ‘उत्कल केसरी’ के नाम से जाना जाता है। स्वतंत्रता आंदोलन में सम्मिलित होने के लिए उन्होंने अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी। वह 1942 से 1945 तक तक़रीबन दो वर्ष अहमदनगर फोर्ट जेल में बंद रहे तथा उसी के चलते उन्होंने ओडिशा के इतिहास पर आधारित यह पुस्तक लिखी तथा वर्ष 1948 में ‘ओडिशा इतिहास’ का ओडिया एडिशन प्रकाशित किया।

मायावती ने कहा- चुनावी रैलियों में हो रहा कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन

इस राज्य में बंद हुए बार और शराब के ठेके, कई चीजों पर लगा प्रतिबंध

सीएम योगी बोले- 'दीदी' को चिढ भाजपा से या हम से हो सकती है, लेकिन राम से क्यों ?