'भारत पर तरह तरह के सवाल उठ रहे थे', संबोधन में बोले PM मोदी

नई दिल्ली: कोरोना काल में पीएम मोदी का आज 10वां संबोधन है जो शुरू हो चुका है। आप सभी को बता दें कि इससे पहले बीते कल यानी गुरुवार को भारत ने 100 करोड़ डोज कोरोना टीका लगाने का लक्ष्य हासिल किया है। यह देखते हुए आज सबकी निगाहें पीएम मोदी के संबोधन पर है। आपको यह भी जानकारी दे दें कि आने वाले समय में दिवाली और छठ जैसे त्योहार आने वाले हैं। ऐसे में यह माना जा रहा है कि पीएम मोदी अपने संबोधन में आगामी त्योहारों पर लोगों को कोरोना को लेकर आगाह कर सकते हैं।

अब पीएम मोदी का संबोधन शुरू हो चुका है। संबोधन की शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'कल 21 अक्टूबर को भारत ने 1 बिलियन, 100 करोड़ वैक्सीन डोज़ का कठिन लेकिन असाधारण लक्ष्य प्राप्त किया है। इस उपलब्धि के पीछे 130 करोड़ देशवासियों की कर्तव्यशक्ति लगी है, इसलिए ये सफलता भारत की सफलता है, हर देशवासी की सफलता है। दुनिया के दूसरे बड़े देशों के लिए वैक्सीन पर रिसर्च करना, वैक्सीन खोजना, इसमें दशकों से उनकी expertise थी। भारत, अधिकतर इन देशों की बनाई वैक्सीन्स पर ही निर्भर रहता था।'

इसी के साथ उन्होंने कहा, 'आज कई लोग भारत के वैक्सीनेशन प्रोग्राम की तुलना दुनिया के दूसरे देशों से कर रहे हैं। भारत ने जिस तेजी से 100 करोड़ का, 1 बिलियन का आंकड़ा पार किया, उसकी सराहना भी हो रही है। लेकिन, इस विश्लेषण में एक बात अक्सर छूट जाती है कि हमने ये शुरुआत कहाँ से की है: भारत के लोगों को वैक्सीन मिलेगी भी या नहीं? क्या भारत इतने लोगों को टीका लगा पाएगा कि महामारी को फैलने से रोक सके? भांति-भांति के सवाल थे, लेकिन आज ये 100 करोड़ वैक्सीन डोज, हर सवाल का जवाब दे रही है। जब 100 साल की सबसे बड़ी महामारी आई, तो भारत पर सवाल उठने लगे। क्या भारत इस वैश्विक महामारी से लड़ पाएगा? भारत दूसरे देशों से इतनी वैक्सीन खरीदने का पैसा कहां से लाएगा? भारत को वैक्सीन कब मिलेगी?'

तिरंगे से जगमगाये 100 स्‍मारक, 100 करोड़ वैक्सीनेशन लगने पर मना उत्सव

आज सुबह 10 बजे देश को संबोधित करेंगे PM मोदी, इन मुद्दों पर कर सकते हैं चर्चा

नेहरू के जन्मदिन से महंगाई के खिलाफ आन्दोलन शुरू करेगी कांग्रेस, सरकार को घेरने की योजना

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -