किसान अन्नदाता और गांव देश की आत्मा-पीएम

किसान अन्नदाता और गांव देश की आत्मा-पीएम

उत्तरप्रदेश के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पश्चिम बंगाल की ओर रुख किया है. आज पीएम यहाँ मिदनापुर शहर में एक रैली के साथ बंगाल में मिशन 2019 का बिगुल फूंक चुके है. पीएम ने कहा भारतीय जनता पार्टी की सरकार अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए आपके जीवन को आसान बनाते हुए काम कर रही है. आखरी व्त्यक्ति को लाभ देने की हमारी नीति लगातार काम कर रही है. पीएम इसी बीच बंगाली में भी किसानों से रूबरू हुए . पीएम मिशन 2019 के तहत किसानों को रिझाने और MSP बढ़ाये  जाने को लेकर  खुद की पीठ थपथपाने का काम किया. MSP पर लम्बा भाषण देते हुए उन्होंने सभी फसलों के मूल्य गिनवाए और कांग्रेस को खूब कोसा. पीएम ने कहा कांग्रेस के राज में MSP की फाइल दबा दी गई. मगर बीजेपी ने आज किसानों को बड़ा तोहफा दिया है और वादा निभाया है. पीएम ने किसानों को अन्नदाता  और गांव को देश की आत्मा बताया.

किसानों की फसलों के दाम बढ़ाने का क्रेडिट लेने आज पीएम ममता के गढ़ में

गौरतलब है कि पूर्वांचल दौरे की शुरुआत में उत्तर प्रदेश के बाद आज पश्चिम बंगाल का रुख कर चुके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हालिया गतिविधियों को लेकर बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा है कि पीएम की सक्रियता से लगता है आम चुनाव समय से पहले होगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जिस तरह से सक्रिय हैं, लगता है कि चुनाव इसी वर्ष संभव है.

मोदी की घटती लोकप्रियता से बौखला गई है BJP : मायावती

मायावती ने कहा कि इनमें काफी ज्यादा हताशा है. बीजेपी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ व राजस्थान विधानसभा के साथ ही लोकसभा का चुनाव भी समय से पहले यानी इस साल के अंत तक करा सकती है. जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती सरकार गिराकर बीजेपी इसकी भूमिका पहले ही तैयार कर चुकी है. उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा आजमगढ़ व मिर्जापुर में दिए गए भाषण चुनावी जुगाड़ों वाला भ्रामक भाषण है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में "अटके, लटके व भटके" रहने वाली योजनाओं में बीजेपी का भी योगदान है. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार अपनी असफलता को क्यों नहीं स्वीकारती है. पीएम नरेंद्र मोदी को थोड़ी ईमानदारी का सबूत देना चाहिए और जनता को स्पष्ट बताना चाहिए कि इतने लंबे समय के दौरान केंद्र व विभिन्न राज्यों में बीजेपी की सरकारी भी रही.  

'बंगला सरकार' ने गरीब लोगों के घर रोके थे- पीएम

 

?