मोदी के शब्दबाण से पस्त हुए विरोधी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता को गोवा और कर्नाटक की धरती से संबोधित किया तो सारा देश भारत माता की जय के जयकारों से गूंज उठा। उनके इस वक्तव्य को अब तक का सबसे प्रभावशाली बताया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धनकुबेरो और कालेधन को लेकर जिस तरह से अपनी बात रखी वह सब सुनकर तो बैंकों में कतार में लगे लोगों में भी जोश आ गया होगा। उनके इस भाषण खास बात यह रही की उन्होंने बैंकों के कर्मचारियों के कार्य की भी सराहना की। वैसे मोदी का यह फैसला बैंकिंग रिफाॅर्म के तौर पर उठाया गया एक बड़ा कदम मन जा रहा है। 

गौरतलब है कि मोदी सरकार ने 8 नवंबर को 500 रूपए और 1000 रूपए के नोट बंद करने का निर्णय लिया था। उनके इस निर्णय पर कई तरह के सवाल उठ रहे थे। लेकिन पीएम मोदी ने अपने तरकश से जिस तरह से शब्दबाण निकाले उससे मोदी के विरोधी ढेर हो गए। पीएम मोदी की गर्जना से कालाधन जमा करने वाले लगभग डरे हुए नज़र आए।

वे सोच रहे हैं एक ही रात में उनके करोड़ों रूपए को कागज़ बना देने वाले पीएम मोदी अब क्या सुधारवादी कदम लाऐंगे उनके दिमाग में क्या - क्या आइडिया हैं। ऐसे लोग अब भी डरे हुए हैं और वाकई में अपनी काली कमाई के नोटों को यहां वहां खपाकर चैन की नींद लेने का प्रबंध कर रहे हैं मगर इनकी नींद उड़ी हुई है। आम आदमी परेशान जरूर है लेकिन अपने प्रधानमंत्री के निर्णय की जमकर सराहना कर रहा है।

उन्होंने बैंक के पुराने कर्मचारियों के सहयोग के लिए उन्हें धन्यवाद दिया तो बैंकों में कतार में लगे लोगों को जल पिलाने की सेवा करने वालों की सराहना की। पीएम मोदी के वार से उनके विरोधी डरे हुए नज़र आए मगर जनता उनके साथ खड़ी थी हर ओर से यही आवाज़ आई मोदी जी आगे बढ़ो हम आपके साथ हैं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -