प्लास्टिक के बर्तन में खाने-पीने से पहले पढ़े यह खबर वरना हो जाएगी बहुत देर

 

सरकार ने 1 जुलाई से देशभर में सिंगल यूज प्लास्टिक (Single Use Plastic) से जुड़े 19 आइटम्स पर बैन लगा दिया है। जी हाँ और आप सभी तो जानते ही होंगे इनका इस्तेमाल न केवल पर्यावरण (Environment) बल्कि लोगों की सेहत (Health) के लिए भी हानिकारक है। हालाँकि इन दिनों प्लास्टिक हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा बन चुका है और अगर बैन के बावजूद भी आप प्लास्टिक के डिब्बे या प्लेट्स में खाना खा रहे हैं तो ये आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। हाल ही में हुई एक रिसर्च में यह सामने आया है कि जब हम खाना प्लास्टिक के किसी भी आइटम में रखते हैं तो उसमें से कुछ मात्रा में प्लास्टिक हमारे खाने में मिल जाता है।

इनके सेवन से हमारे शरीर को कई प्रकार की गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ता है। आप सभी को हम यह भी बता दें कि आपके खाने या पानी में जहरीला केमिकल्स का मिलना इस बात पर आधारित होता है कि प्लास्टिक के डिब्बे में जो खाना रखा गया है वो कितना गरम है। जी हाँ और वैसे भी हम ज्यादा गरम खाना प्लास्टिक के डिब्बे में बंद करके रखते हैं तो हमारे खाने में उतने ही ज्यादा केमिकल्स मिलते हैं, जो हमारी सेहत पर बुरा असर डालते हैं।

आप सभी को बता दें कि प्लास्टिक में केमिकल पहले से मौजूद नहीं होते, बल्कि प्लास्टिक के बने बर्तन में गर्म खाना जाने के बाद इसमें जहरीली केमिकल बनना शुरू होता है। जी हाँ और प्लास्टिक की प्लेट या इससे बने किसी भी बर्तन में खाना खाने से ये हमारे भोजन में मिल जाता है। जी दरअसल इससे 'एंडोक्रिन डिस्ट्रक्टिंग' नाम का ज़हर बनता है और यह हमारे हार्मोंस में असंतुलन पैदा करता है। वहीं इसके कारण हमारे हार्मोंस ठीक से काम करना बंद कर देते हैं। इसके अलावा लंबे समय तक प्लास्टिक के बने बर्तनों में खाना खाना से कैंसर जैसी घातक बीमारी भी हो सकती है।

किस प्रकार के प्लास्टिक का करें इस्तेमाल- दुनियाभर के लोग खाना रखने और पानी के लिए प्लास्टिक को बोतल और प्लास्टिक के लन्च बॉक्स का इस्तेमाल करते हैं। हालाँकि आप खाने के लिए जिस प्लास्टिक का इस्तेमाल कर रहे हैं वो कितना खतरनाक हो सकता है इसकी जानकारी आपको अवश्य होनी चाहिए। जी हाँ और अगर आप पानी और खाने के लिए प्लास्टिक के आइट्मस का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इस बात का जरूर ध्यान रखें की वो ISI मार्क होना चाहिए। आपको जानकारी दे दें कि ये मार्क ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (BIS) जारी करता है। जो इस बात को सुनिश्तित करता है कि प्लास्टिक अच्छी क्वालिटी का है।

इन बातों को रखें विशेष ध्यान- 
* माइक्रोवेव प्लास्टिक कैंसर पैदा करने वाले केमिकल्स को खाने में मिला देता है। इस वजह से माइक्रोवेव में प्लास्टिक में खाना ज्यादा देर तक गरम न करें।
* पानी की बोतल को गर्म होने से बचाएं, ऐसा इसलिए क्योंकि गर्म होकर इन प्लास्टिक बोतलों से केमिकल निकलकर पानी में घुल जाता है।
* छोटे बच्चों को दूध पिलाने के लिए प्लास्टिक बोतल के इस्तेमाल से बचें। जी दरअसल बच्चों की बोतल को माइक्रोवेव या गैस पर पानी में भूल से भी ना उबालें।
* प्लास्टिक की बोतलों में पानी को जमाने से भी कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ सकता है। इसी के साथ प्लास्टिक की बोतल का बार-बार इस्तेमाल करना भी खतरनाक साबित हो सकता है।

अब नहीं लेनी पड़ेगी गर्भनिरोधक गोली, ये इंजेक्शन करेगा मदद

वजन कम करने को हैं बेताब तो आज से फॉलो करें फिस्‍ट डाइट

आपको बहुत पसंद है चॉकलेट तो खाने से पहले पढ़ लीजिये उसके चौकने वाले नुकसान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -