हर ग्रह को पसंद है ख़ास सुगंध, ऐसे कर सकते हैं खुश

Apr 10 2019 09:40 PM
हर ग्रह को पसंद है ख़ास सुगंध, ऐसे कर सकते हैं खुश

अगर आप समझते हैं कि कोई ग्रह या नक्षत्र आपकी जिंदगी में परेशानी खड़ी कर रहा है तो आप सुगंध से इन ग्रह नक्षत्रों के बुरे प्रभाव को दूर कर सकते हैं. जी हाँ, आज हम आपको बताते हैं कि कैसे सुगंध से ग्रहों की शांति कर सकते हैं. आइए बताते हैं.

सूर्य ग्रह : कहते हैं अगर कुंडली में सूर्य ग्रह बुरे प्रभाव दे रहा है तो आप केसर या गुलाब की सुगंध का उपयोग करें. वहीं घर के लिए रूम फ्रेशनर लाएं और शरीर के लिए इस सुगंध का कोई इत्र उपयोग करें. इससे लाभ होगा.


चंद्र ग्रह : कहा जाता है चंद्रमा मन का कारण है अत: इसके लिए चमेली और रातरानी के इत्र का उपयोग कर सकते हैं.


मंगल ग्रह : ज्योतिषों के अनुसार मंगल ग्रह की परेशान से मुक्त होने के लिए लाल चंदन का इत्र, तेल अथवा सुगंध का उपयोग कर सकते हैं.


बुध ग्रह : कहते हैं बुध ग्रह की शांति के लिए चंपा का इत्र तथा तेल का प्रयोग बुध की दृष्टि से उत्तम माना जाता है.


गुरु ग्रह : कहते हैं कि केसर और केवड़े का इत्र के उपयोग के अलावा पीले फूलों की सुगंध से गुरु की कृपा पाई जा सकती है.


शुक्र ग्रह : कहा जाता है शुक्र को सुधारने के लिए सफेद फूल, चंदन और कपूर की सुगंध लाभकारी होती है और चंपा, चमेली और गुलाब की तीक्ष्ण खुशबू से खराब हो जाता है.


शनि ग्रह : ज्योतिषों के अनुसार शनि के खराब प्रभाव को अच्छे प्रभाव में बदलने के लिए कस्तुरी, लोबान तथा सौंफ की सुगंध का उपयोग किया जा सकता है.


राहु और केतु छाया ग्रह : वहीं काली गाय का घी व कस्तुरी के इत्र का उपयोग कर राहु ग्रह के दुष्प्रभाव से बचा जा सकता है और यह उपलब्ध न हो तो घर के शौचालय को साफ सुधरा रख कर घर में प्रतिदिन कर्पूर जलाएं इससे भी लाभ होगा.

यहाँ जानिए कैसे हुआ था माँ स्कन्दमाता का जन्म

आज इस स्तोत्र पाठ और कवच से करें माँ स्कंदमाता को खुश

यहाँ जानिए माँ स्कंदमाता की सबसे आसान पूजन विधि और ध्यान मंत्र