कश्मीर फाइल्स को प्रोपेगेंडा बताने वाले 'रवीश' की पियूष मिश्रा ने लगाई क्लास, जमकर सुनाई खरी-खरी

नई दिल्ली: 1990 में हुए कश्मीरी हिन्दुओं के वीभत्स नरसंहार पर बनी फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files)’ को लेकर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (IFFI) के जूरी हेड नादव लैपिड (Nadav Lapid) ने आपत्तिजनक बयान दिया था। इसी मामले पर बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता पीयूष मिश्रा ने कश्मीर फाइल्स की प्रशंसा करते हुए उन्हें जमकर लताड़ लगाई है। यही नहीं, पियूष मिश्रा ने इस फिल्म को प्रोपेगेंडा बताने वाले नसीरुद्दीन शाह और रवीश कुमार को भी जमकर खरी-खरी सुनाई।

पीयूष मिश्रा ने ‘द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files)’ पर अपनी राय रखते हुए कहा कि, 'इन लोगों ने देखा नहीं है कश्मीर। ये लोग कश्मीर जानते नहीं हैं, ये कभी गए नहीं हैं कश्मीर। मैंने पहले भी पढ़ा था, जब नसीरुद्दीन शाह ने कहा था, रवीश कुमार ने कह था कि कश्मीर फाइल्स, एक झूठी और प्रोपेगेंडा फिल्म है। मेरे पास आएँ, मैं दिखाता हूँ आपको डॉक्यूमेंट्री, जो कश्मीरी पंडितों के जीवन पर बनाई गई हैं। उसमें एक-एक डायलॉग और घटना मैच करती हैं, जो उन्होंने खुद कहा है कैमरा पर।' पियूष मिश्रा ने आगे कहा कि AC स्टूडियो में बैठ कर, पेरी क्रॉस रोड बांद्रा में बैठ कर, भारत का आकलन नहीं हो सकता। उन्होंने कह कि, हिंदुस्तान का आकलन तब होता है, जब इंसान बाहर निकलता है, जिंदगी देखनी पड़ती है और धूप में चलना पड़ता है। पीयूष मिश्रा ने कहा कि जो भी व्यक्ति ऐसा करेगा, उसे ही ऐसी फिल्म पसंद आएगी।

बता दें कि, पीयूष मिश्रा से पहले बुधवार (30 नवंबर) को बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो साझा किया था। इसमें उन्होंने ‘द कश्मीर फाइल्स’ (The Kashmir Files) को प्रोपेगेंडा फिल्म कहने वालों को लेकर कहा था कि लोगों को सच जैसा है, उसे वैसा देखने और दिखाने की आदत नहीं होती। खेर ने कह था कि, ऐसे लोग अपनी मनपसंद खुशबू, अपना मनपसंद जायका, अपने मनपसंद रंग चढ़ा कर, सजा कर देखने-दिखाने के आदी होते हैं। अनुपम खेर ने कहा था कि, 'इन लोगों को कश्मीर का सच पच नहीं रहा है। ये लोग चाहते हैं कि उसे किसी रंगीन और खुशनुमा चश्मे से देखा और दिखाया जाए। बीते 25-30 वर्षों से वे यही करते आए हैं। आज जब ‘द कश्मीर फाइल्स’ ने सच को जैसा है, वैसा दिखाकर पेश किया, तो उन्हें दिक्कत हो रही है।'

कट्टरपंथी इस्लामी आतंक की वजह से कश्मीरी हिंदुओं ने जो सालों-साल झेला है, उस पर अनुपम खेर ने यह भी कहा था कि जो लोग इस भयावह सच्चाई को नहीं देख पाते हैं, वो अपना मुँह सिल लें और आँखें बंद कर लें। मगर, उस सच्चाई का मजाक उड़ाना बंद करें। खेर ने इसके पीछे दलील दी थी कि उनके जैसे कई लोग इस सच के भुक्तभोगी हैं। बता दें कि इससे पहले कश्मीर फाइल्स बनाने वाले निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने भी चुनौती देते हुए कहा था कि, जो लोग इसे प्रोपेगंडा बता रहे हैं, वो इसके एक दृश्य को भी झूठा साबित कर दें, तो वे हमेशा के लिए फिल्म बनाना छोड़ देंगे। 

कश्मीर फाइल्स का एक भी दृश्य झूठा निकला, तो फिल्म बनाना छोड़ दूंगा - विवेक अग्निहोत्री का चैलेंज

अब 'द कश्मीर फाइल्स- अनरिपोर्टेड' बनाएंगे विवेक अग्निहोत्री, किया एलान

शादी के लिए जयपुर रवाना हुईं हंसिका मोटवानी, चेहरे पर दिखा ग्लो

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -