नेताओं की रैलियों में सक्रिय पॉकेटमार, प्रियंका की रैली में उड़ाए 100 मोबाइल

नेताओं की रैलियों में सक्रिय पॉकेटमार, प्रियंका की रैली में उड़ाए 100 मोबाइल

नई दिल्ली: 2019 लोकसभा चुनाव के लिए मतदाताओं को लुभाने के लिए होने वाले रोड शो, जनसभाओं व रैलियों का लाभ पॉकेटमार गिरोह उठा रहे हैं। भीड़ का लाभ उठाकर ये लोग बड़ी तादाद में मोबाइल व पर्स झपट रहे हैं। प्रियंका गांधी के रोड शो में लगभग 100 मोबाइल चोरी होने की घटना के बाद पकड़े गए एक युवक से पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ है। उसने पुलिस को कई हैरान करने वाली जानकारी दी है। कोतवाली पुलिस उसे हिरासत में लेकर साल-जवाब कर रही है।

लोकसभा चुनाव: पीएम मोदी पर बरसीं मायावती, कहा - इनका काम केवल भाजपा की ब्रांडिंग

पुलिस ने दावा किया है कि वह पॉकेटमार गैंग का सदस्य है और पलवल से यहां वारदात को अंजाम देने अपने साथियों के साथ आया था। पुलिस के मुताबिक, प्रियंका गांधी वाड्रा के रोड शो से बड़ी तादाद में मोबाइल और पर्स चोरी होने की शिकायत मिलने के बाद पुलिस अलर्ट हो गई थी। शाम लगभग 7 बजे रमते राम रोड पर पुलिस ने तीन संदिग्ध युवकों को देखा। पुलिस ने उन्हें रुकने का संकेत किया, तो वे भागने लगे। पीछा करके पुलिस ने एक युवक को पकड़ लिया, जबकि उसके दो साथी भागने में सफल हो गए। पूछताछ में आरोपी से पुलिस को वारदात करने की जानकारी मिली है। 

लोकसभा चुनाव: टिकट कटने पर भावुक हुई संतोष चौधरी, कहा - कांग्रेस दौलत की भूखी..

पुलिस के मुताबिक, युवक पलवल का निवासी है। उसने पुलिस को कहा है कि दिल्ली-एनसीआर में ऐसे 11 से ज्यादा गैंग है, जो रैलियों और जनसभाओं में पहुंचकर मोबाइल और पर्स पर हाथ साफ़ कर रहे हैं। ये लोग रोजाना अखबार और न्यूज चैनल पर निगाह रखते हैं। वहां से जैसे ही दिल्ली-एनसीआर में कहीं भी किसी बड़े नेता के रोड शो या रैली की जानकारी मिलती है, तो वे वारदात को अंजाम देने के लिए वहां पहुंच जाते हैं। इसके बाद वे भीड़ में घुस कर मोबाइल और पर्स चुराकर फरार हो जाते हैं। 

खबरें और भी:-

‘अब होगा न्याय’ के सहारे लोकसभा चुनाव लड़ेगी कांग्रेस

यूपी में बारिश और ओले से नष्ट हुई फसल, पियंका गाँधी ने जताया दुःख

राजनीतिक दलों को RTI के दायरे में लाया जाए, सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई याचिका