असहिष्णुता पर PM मोदी की बात सुनें कलाकार

भोपाल : एक बार फिर देश में असिहष्णुता का मसला छा गया। इस बार लोकप्रिय फोटोग्राफर और पद्यमश्री अलंकरण से सम्मानित रघुराय ने कहा है कि देश में असहिष्णुता से जुड़ी कुछ घटनाऐं जरूर हुई हैं। मगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आस है कि वे इन घटनाओं पर विराम लगाऐंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दिशा में प्रयास भी किए हैं। उन्होंने संसद में अपनी बात रखी। इससे एक अलग ही माहौल तैयार हो गया है। 

रघुराय ने कलाकारों से अपील करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात को कलाकारों को भी सुनना चाहिए। उनका कहना था कि विरोध - प्रदर्शन को प्रधानमंत्री के विरूद्ध साजिश के तौर पर देखा जाना गलत नहीं है। संवेदनशील कलाकार और साहित्यकार की आत्मा अन्याय के खिलाफ ही विरोध करती है। उनके द्वारा साफतौर पर कहा गया कि इस माहौल के बीच उनके मन में पद्यमश्री पुरस्कार लौटाने का कोई विचार नहीं था। वे अपना पुरस्कार नहीं लौटाना चाहते हैं।

उनका मानना था कि पुरस्कार लौटाकर विरोध करना उचित नहीं है। समस्या के समाधान के लिए किए जाने वाले प्रयासों और अन्य पक्ष की बात सुनने के बाद ही कोई निर्णय लिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि विरोध के कई तरीके होते हैं। वह पुरस्कार लौटाना सही नहीं है जो बड़े सम्मान से मिला हो। बांग्लादेशी युद्धबंदियां की समस्या, शरणार्थियों की समस्या और वर्ष 1984 में भोपाल गैस त्रासदी को लेकर रघुराय की फोटोग्राफी बहुत ही लोकप्रिय रही। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -