इस दिन नहीं मिलेगा पेट्रोल-डीजल, फिर हड़ताल पर उतरेंगे पेट्रोल पंप संचालक

भोपाल: मध्यप्रदेश में केंद्र सरकार के एक्साइज ड्यूटी घटाने से पेट्रोल साढ़े 9 तथा डीजल 7 रुपए प्रति लीटर तक सस्ता हो गया है। ऐसे में जनता को महंगाई से राहत प्राप्त हुई है। दूसरी तरफ, पेट्रोल पंप के संचालक विरोध व्यक्त करने लगे हैं। यह विरोध कमीशन कम होने को लेकर है। इसके चलते 25 मई की शाम 7 से रात 9 बजे तक राज्यभर के पेट्रोल पंप 2 घंटे के लिए बंद रखे जाएंगे। फिर भी अगर कमीशन नहीं बढ़ा तो अनिश्चितकालीन हड़ताल आरम्भ की जाएगी। मध्यप्रदेश पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन ने इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक को अल्टीमेटम भी दिया गया है। एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा, इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम तथा हिंदुस्तान पेट्रोलियम के पेट्रोल पंप डीलर्स ने स्टेट लेवल को-आर्डिनेटर के सामने मांगें रखी गई हैं।

जानिए क्या है मांगें?
* 4-5 नवंबर 2021 को केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 10 तथा डीजल पर 15 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी कम की थी। वहीं, 22 मई 2022 को पेट्रोल पर 9.50 रुपए एवं डीजल पर 7 रुपए कम किए गए। दाम कम करने से खुश है, किन्तु डीलर को एक्साइज ड्यूटी की कटौती से 12 से 15 लाख रुपए की हानि उठाना पड़ रही है क्योंकि डीलर पेट्रोल-डीजल खरीद पर एडवांस में एक्साइज ड्यूटी जमा करा देते हैं। अब यह रिफंड की जानी चाहिए।
* साथ ही जब पेट्रोल 60 तथा डीजल 50 रुपए लीटर प्राप्त होता था, तब जितना कमीशन प्राप्त होता था, वहीं अब मिल रहा है। जबकि ईंधन के दाम दोगुने हो गए हैं। यह कमीशन बढ़ाया जाए।
* कमीशन बिक्री मूल्य 5 प्रतिशत निर्धारित हो। नई दरें वर्ष 2017 से लागू हो।

वही इसको लेकर राज्य के पेट्रोल पंप डीलर्स ने दो दिन मतलब 25 मई तक का अल्टीमेटम दिया है। अगर कमीशन वृद्धि के सिलसिले में कोई फैसला नहीं हुआ तो 25 मई की शाम 7 से रात 9 बजे के बीच पूरे राज्य में पेट्रोल पंप बंद रखकर हड़ताल की जाएगी। इसके बाद अनिश्चितकालीन हड़ताल होगी।

मंकी पॉक्स ने बढ़ाया खतरा, इस राज्य में जारी हुआ अलर्ट

गाजियाबाद में नकली नोट छापने की फैक्ट्री का भंडाफोड़

मोदी सरकार की योजनाओं पर चर्चा करेंगे भाजपा के शीर्ष नेता

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -