आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आज का नया भाव

पेट्रोल एवं डीजल के बढ़ते दाम थमने का नाम ही नहीं ले रहा हैं. कई प्रदेशो में इसकी कीमत सैंकड़ा पार कर चुके हैं. आज फिर दोनों के दामों में वृद्धि हुई है. भारतीय तेल विपणन कंपनियों ने ईंधन के नए दाम जारी करते हुए आज मतलब शुक्रवार को फिर से पेट्रोल-डीजल के दामों में 35-35 पैसे की वृद्धि कर दी है. IOCL के मुताबिक, 15 अक्टूबर को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल प्रति लीटर 105.14 रुपये वहीं डीजल 93.87 रुपये प्रति लीटर हो गया है.

पेट्रोलियम विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के मुताबिक, दिल्ली में पेट्रोल 105.14 रुपये प्रति लीटर जबकि मुंबई में 111.09 रुपये प्रति लीटर है. वहीं दिल्ली में डीजल 93.87 रुपये प्रति लीटर की नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर है तथा मुंबई में डीजल महानगरों में उच्चतर स्तर पर पहुंचने के पश्चात् आज मतलब 15 अक्टूबर को 101.78 रुपये प्रति लीटर पर टिका है. देश के ज्यादातर भागों में पेट्रोल के दाम पहले से ही 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर है. डीजल की दरें भी रिकार्ड स्तर पर है. इस माह की बात करें तो 4, 12 एवं आज 13 अक्टूबर को छोड़कर अन्य सभी दिन तेल महंगा हुआ है. फिलहाल आम लोगों को राहत प्राप्त होते हुए नहीं नजर आ रही हैं. यदि ऐसा ही रहा तो आने वाले दिनों केरल, कर्नाटक, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, बिहार एवं लेह की भांति अन्य प्रदेशो में भी ईधन के दाम शतक पार कर चुकी होंगी.

रोजाना अपडेट होते है पेट्रोल-डीजल के दाम:-
बता दें कि विदेशी मुद्रा दरों के साथ इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की कीमत के आधार पर पेट्रोल तथा डीजल के दाम रोजाना अपडेट किए जाते है. ऑयल मार्केटिंग कंपनियां दामों की समीक्षा के पश्चात् प्रतिदिन पेट्रोल और डीजल की कीमत निर्धारित करती हैं. इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम तथा हिंदुस्तान पेट्रोलियम तेल कंपनियां रोजाना प्रातः विभिन्न शहरों की पेट्रोल और डीजल के दाम की जानकारी अपडेट करती हैं.

SMS से जानें अपने शहर में पेट्रोल-डीजल की कीमत:- 
पेट्रोल-डीजल की कीमत रोजाना अपडेट की जाती हैं. ऐसे में आप केवल एक SMS के माध्यम से प्रतिदिन अपने शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम जान सकते हैं. इसके लिए इंडियन ऑयल के कस्टमर को RSP कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा. अपने शहर का RSP कोड जानने के लिए यहां क्लिक करें.

अगले वित्तीय संकट का कारण बन सकती है बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी

सहारा ने नेटफ्लिक्स के खिलाफ किया मानहानि का मुकदमा, अदालत ने किया तलब

भारत को दूरसंचार में 4 वर्षों में 31 संस्थाओं से मिलेगा 3,345 करोड़ रुपये का निवेश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -