पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों से फिलहाल राहत की कोई संभावना नहीं

May 27 2019 12:10 PM
पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों से फिलहाल राहत की कोई संभावना नहीं

नई दिल्ली : पेट्रोल और डीजल की महंगाई से जल्द कोई राहत मिलने की गुंजाइश नहीं दिखती है। लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान संपन्न होने के बाद से देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 64 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है और डीजल के दाम में 68 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हो चुका है।

सोमवार को स्थिर नजर आये पेट्रोल और डीजल के दाम

यह है वृद्धि का कारण  

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार पेट्रोल और डीजल के दाम में रविवार को लगातार चौथे दिन वृद्धि का सिलसिला जारी रहा और जानकारों के अनुसार अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में पिछले दिनों रही तेजी के चलते देश की तेल विपणन कंपनियां पेट्रोल और डीजल के दाम में आगे तीन रुपये प्रति लीटर तक की वृद्धि कर सकती हैं। एक्सपर्ट की माने तो अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में तेजी के बावजूद लोकसभा चुनाव के दौरान तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल के दाम पर नियंत्रण बनाए रखा, जिसके बाद उनको अपने घाटे को पाटने के लिए कीमतें बढ़ाने के अलावा दूसरा कोई उपाय नहीं होगा।

आज फिर नजर आई पेट्रोल और डीजल के मूल्यों में वृद्धि

इसी के साथ अंतर्राष्ट्रीय बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर पिछले सप्ताह शुक्रवार को ब्रेंट क्रूड का अगस्त डिलीवरी अनुबंध 1.37 फीसदी की तेजी के साथ 68.69 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ, जबकि विगत 15 दिनों के दौरान ब्रेंट क्रूड का भाव 70 डॉलर से ऊपर ही बना रहा।

लगातार तीसरे दिन भी नजर आई पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी

लगातार दूसरे दिन भी दर्ज की गई पेट्रोल और डीजल के दाम में वृद्धि

चुनाव खत्म होते ही नजर आई पेट्रोल और डीजल की कीमतों में तेजी