पेटलावद धमाका: पुलिस टीम ने कांसवा की तलाशी के लिए पड़ोसी राज्यों में दी दबिश

Sep 15 2015 03:08 PM
पेटलावद धमाका: पुलिस टीम ने कांसवा की तलाशी के लिए पड़ोसी राज्यों में दी दबिश

झाबुआ. मध्यप्रदेश में झाबुआ के पेटलावद में हुए धमाको से पूरा देश गमगीन है व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी लगातार दूसरे दिन गांव-गांव घूमकर पीड़ितों से मिलते रहे। दुलाखेड़ी में मुख्यमंत्री ने कहा कि हादसे की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है, जो एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपेगी. तथा इन धमाको से हुई 89 मौत के लिए प्रमुख रूप से जिम्मेदार राजेंद्र कांसवा भी अभी फरार है व पुलिस की 22 टीमें आरोपी राजेंद्र कांसवा की धरपकड़ के लिए गठित की गई है व पुलिस की यह टीम राजेंद्र कांसवा के गुजरात-राजस्थान व महाराष्ट्र में रह रहे रिश्तेदारों के यहां भी खोजबीन के लिए सघन तलाशी अभियान चलाएगी. वही पुलिस टीम ने राजेंद्र कांसवा के नौकर बाबू गुलाब दौला के घर पर छापा मारकर 400 जिंदा जिलेटिन रॉड जब्त की व बाबू को  गिरफ्तार कर लिया है. 

व पुलिस टीम ने राजेंद्र कांसवा के भाई फुलचंद और नरेंद्र के गोदाम पर भी छापे मारे. तथा इन धमाको के बाद  आईबी व एनआईए की टीम भी घटनास्थल पर पहुंच गई है व यह टीमें पेटलावद धमाको में एसआईटी की जांच में मदद करेगी. व एनआईए टीम ने घटनास्थल के 100 से 150 मीटर के दायरे में आधे घंटे तक बारीकी से पड़ताल की व कहा की यह कोई आतंकी घटना नही है. टीम ने 150 किलोग्राम बारूद होने की आशंका जताई है. वही सीएम ने कहा है की एसआईटी इस मामले में अपनी रिपोर्ट सरकार को एक सप्ताह में सौंपेगी व एसआईटी की कमान झाबुआ की एडिशनल एसपी सीमा अलवा को सौंपी गई है. व इसमें डीएसपी, इंस्पेक्टर समेत 10 से ज्यादा पुलिस अफसर सम्मिलित है.