'CDS बिपिन रावत' का पार्थिव शरीर ले जा रहे काफिले पर हुई फूलों की वर्षा, दर्शन को उमड़ा लोगों का हुजूम

नई दिल्ली: तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को हेलिकॉप्टर क्रैश में CDS जनरल बिपिन रावत का निधन हो गया। उनकी पत्नी तथा सैन्य अधिकारीयों सहित कुल 13 लोग इस हादसे में मारे गए थे। सभी का पार्थिव शरीर आज दिल्ली पहुंचेगा। मगर उससे पूर्व तमिलनाडु के नीलगिरी जिले के मद्रास रेजिमेंटल सेंटर से सुलूर एयरबेस तक एंबुलेंस से जनरल रावत तथा अन्य व्यक्तियों का पार्थिव शरीर लाया गया।

वही जिन मार्गों से एंबुलेंस निकली, वहां सड़क के दोनों तरफ लोगों का भारी हुजूम दिखाई दिया। लोगों ने एंबुलेंस पर फूलों की वर्षा की तथा भारत माता की जय के नारे लगाए। इसका एक वीडियो न्यूज एजेंसी ANI ने जारी किया है, जिसमें देखा जा सकता है कि सेना के वाहन तथा एंबुलेंस मार्ग से गुजर रहे हैं। लोग एंबुलेंस पर फूलों की वर्षा कर रहे हैं तथा भारत माता की जय के नारे लगा रहे हैं। लोगों ने नम आंखों से देश के पहले सीडीएस को अंतिम विदाई दी।

आपको बता दें कि पार्थिव शरीरों को शाम लगभग 7 बजकर 45 मिनट से श्रद्धांजलि दी जाएगी। शाम तकरीबन साढ़े सात बजे सीडीएस जनरल बिपिन रावत का पार्थिव शरीर पालम एयरपोर्ट पहुंच जाएगा। इससे पूर्व संसद में हेलिकॉप्टर क्रैश पर लोकसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि भारतीय वायु सेना (IAF) ने सैन्य हेलिकॉप्टर दुर्घटना की त्रि-सेवा जांच ( Tri-Service Inquiry) के आदेश दिए हैं। तहकीकात का नेतृत्व एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह करेंगे। राजनाथ सिंह ने कहा कि कल ही जांच टीम वेलिंगटन पहुंची तथा तहकीकात आरम्भ कर चुकी है।

सेना के वरिष्ठ रैंकिंग अधिकारी एक साथ यात्रा क्यों कर रहे थे?, बिपिन रावत के निधन पर बोले संजय राउत

भीमा कोरेगांव मामला: 3 सालों बाद जेल में रिहा हुईं सुधा भारद्वाज

बड़ी खबर: जनवरी में आएगी कोरोना की तीसरी लहर लेकिन नहीं होगा ज्यादा असर!

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -