लोगों को मिली राहत की साँस, दिल्ली में कम हुआ वायु प्रदूषण का स्तर

नई दिल्ली: दिवाली के उपरांत बिगड़ी दिल्‍ली और आसपास के क्षेत्रों की हवा की गुणवत्ता में गुरुवार को बारिश के उपरांत चली हवाओं के कारण से मामूली सुधार होता हुआ देखने को मिल रहा है, लेकिन यह अभी भी ‘खराब’ श्रेणी में बनी हुई है. इस कारण से सांस लेना भी बहुत परेशानी भरा हो चुका है. शनिवार की सुबह दिल्‍ली के नरेला में AQI 431 दर्ज किया गया, जो कि दिल्‍ली-NCR में सबसे ज्यादा  है. जबकि दिल्‍ली के साथ गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा और फरीदाबाद में भी जहरीली हवा का कहर कम हो चुका है, लेकिन हालात चिंताजनक बने हुए हैं.  जहां इस बात का पता चला है कि दिल्‍ली-NCR के लोगों को इस वीकेंड पर भी जहरीली में हवा में सांस लेने के लिए मजबूर होना पड़ेगा, क्‍योंकि शनिवार और रविवार को हवाएं धीमी रहने वाली है जिसके कारण  प्रदूषण में वृद्धि हो सकती है.

दरअसल शनिवार की सुबह दिल्‍ली के अधिकांश क्षेत्रों में AQI 300 से नीचे बना हुआ है, जो कि शुक्रवार के मुकाबले कम है. हालांकि ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क में AQI आज 553 है. जबकि बीते कुछ दिनों से प्रदूषण की जबरदस्‍त मार झेल रहे फरीदाबाद में AQI 300 से नीचे है. वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के मुताबिक दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी में ही बनी हुई है. आने वाले दो दिनों तक हवाएं कमजोर रहने वाली है. जिसके कारण प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ने वाला है. जबकि 5 दिसंबर से हवाओं में तेजी आना शुरू होगी लेकिन प्रदूषण का स्तर बहुत ही ज्यादा खराब रहेगा. ख़बरों की माने तो 3 दिसंबर को प्रदूषण में सुधार हुआ और यह गंभीर से बहुत खराब स्थिति में पहुंच गया. वहीं, 4 और 5 दिसंबर को भी प्रदूषण की स्थिति बेहद खराब बनी रहने वाली है. जिसके अतिरिक्त रविवार को हवाएं कुछ तेज होंगी और 6 दिसंबर को वर्षा होने का अनुमान है. इससे प्रदूषण कम होने का अनुमान है. हालांकि यह खराब श्रेणी में ही रहेगा.

वहीं यह भी कहा जा रहा है कि बढ़ते प्रदूषण के कारण से दिल्‍ली के स्‍कूल-कॉलेज एक बार फिर बंद कर दिए गए हैं, तो दिल्ली से सटे हरियाणा के सोनीपत, गुरुग्राम, फरीदाबाद और झज्जर में भी पर्यावरण विभाग ने अगले आदेश तक सारे स्कूल बंद करने का ऐलान कर दिया है. वहीं, प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में लगातार सुनवाई चल रही है. इस दौरान कोर्ट से केंद्र के साथ दिल्‍ली गवर्नमेंट को जमकर फटकार लगाई है.

भारत के आगे चीन ने मानी हार, जानिए क्या है पूरी कहानी

देश के राजनेताओं ने जताया नौसेना के अधिकारियों पर गर्व

मुकेश अंबानी का कहना है कि भारत अपने आप में डिजिटल रेवोलुशन का नेतृत्व कर सकता है

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -