गुरु पर्व को लेकर लोगों में खूब उत्साह

चंडीगढ़ : सिखों के प्रथम गुरु, गुरु नानक देव की जयंती पर बुधवार को लोगों में खूब उत्साह है। गुरुद्वारों में भारी भीड़ नजर आ रही है। गुरु नानक देव की जयंती गुरु पर्व के रूप में मनाई जा जाती है। इस अवसर पर अमृतसर में स्वर्ण मंदिर के नाम से चर्चित 'हरमंदिर साहिब' में खास प्रार्थना का आयोजन किया गया, जहां श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी। यहां सुबह से ही श्रद्धालुओं का आना शुरू हो गया। पंजाब में सभी सिख धार्मिक स्थलों पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं।

स्वर्ण मंदिर मंगलवार शाम रोशनी में नहाया नजर आया। इससे पहले दीवाली और 'बंदी छोड़ दिवस' पर मंदिर परिसर में जश्न का माहौल नहीं था। सिखों की पवित्र पुस्तक गुरु ग्रंथ साहिब के अपवित्रीकरण को लेकर लोगों के विरोध-प्रदर्शन के मद्देनजर उक्त दो अवसरों पर जश्न नहीं मनाया गया था। गुरु नानक देव की 546वीं जयंती पर पंजाब और हरियाणा के गुरुद्वारे धार्मिक रंग में रंगे नजर आ रहे हैं। हर तरफ शबद-कीर्तन सुनाई दे रहे हैं।

गुरुद्वारों में लंगर की व्यवस्था भी की गई है। 2,000 से अधिक श्रद्धालु गुरु पर्व मनाने पाकिस्तान के ननकाना साहिब भी गए हुए हैं, जो लाहौर से करीब 100 किलोमीटर दूर है। गुरु नानक देव का जन्म यहीं 1469 में हुआ था। पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिह बादल ने गुरु पर्व पर लोगों को बधाई दी और उनसे गुरु के उपदेशों पर चलने तथा शांति बनाए रखने का आग्रह किया।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -