पेंटागन का दावा, चीन ने रस्ते में रोके दो अमेरिकी लड़ाकू विमान

अमेरिकी सुरक्षा एजेंसी पेंटागन के अनुसार चीन के द्वारा उनके दो लड़ाकू विमानों को विवादित दक्षिण सागर क्षेत्र में असुरक्षित तरीके से रोका गया. घटना के बाद दोनों देशो के बीच इस विवादित इलाके को लेकर एक बार फिर हालात गरमा गए है. 

पेंटागन के प्रवक्ता कैप्टन जेफ डेविस के अनुसार दो चीनी जे-11 विमानों द्वारा उनके ईपी-3 टोही विमान को अंतर्राष्ट्रीय सीमा में असुरक्षित तरीके से रोका गया. इस दौरान दोनों देशो के विमान के बीच की दूरी केवल 50 फ़ीट थी. जेफ ने कहा, "हम इस मामले को उचित राजनयिक एवं सैन्य माध्यमों से निपटने की कोशिश कर रहे हैं."

वही चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हांग लेई ने आरोपों से इंकार करते हुए कहा, "संबंधित विभागों से मिली जानकारी के आधार पर कह सकते हैं कि अमेरिका का आरोप झूठा है. उन्होंने कहा कि 17 मई को अमेरिका विमान हैनान द्वीप के करीब जासूसी के इरादे से उड़ रहा था. इस पर दो चीनी विमानों ने कानून के तहत और सुरक्षित दूरी पर रहते हुए उसका मुआयना किया."

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -