पेंटागन ने भारत को दी अलर्ट रहने की सलाह, जानिए क्या है माजरा?

अमेरिका के रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन ने हाल ही में भारत को अलर्ट रहने की नसीहत दी है। जी दरअसल पेंटागन का कहना है कि तालिबान सरकार, भारत के विरोधी आतंकवादी संगठनों को फायदा पहुंचा सकती है, खासकर जो कश्मीर के आसपास मौजूद हैं। जी दरअसल हाल ही में पेंटागन के एक शीर्ष अधिकारी ने बयान देते हुए कहा है कि, 'अफगानिस्तान की वर्तमान स्थिति को लेकर भारत चिंतित है, लेकिन भारत को भी इस बात को लेकर चिंतित होने की जरूरत है कि कश्मीर के आसपास मौजूद आतंकवादी संगठनों को तालीबान की सरकार मदद मुहैया करा सकती है।'

वहीं दूसरी तरफ अमेरिका के अवर रक्षा सचिव डॉ। कॉलिन एच। कहल ने अफगानिस्तान, दक्षिण और मध्य एशिया सुरक्षा पर सुनवाई के दौरान सीनेट की सशस्त्र सेवा समिति के सदस्यों से कहा, ‘मुझे यकीन है कि आप इस बात से अवगत हैं कि भारत, अफगानिस्तान की स्थिति को लेकर चिंतित हैं। वे वहां की अस्थिरता और आतंकवाद विरोधी अपनी चिंताओं को लेकर भी काफी परेशान हैं।’ इसके अलावा उनका यह भी कहना है कि, 'अफगानिस्तान के प्रति भारत की नीतियों की कल्पना बड़े पैमाने पर पाकिस्तान के साथ प्रतिस्पर्धा और छद्म संघर्ष को ध्यान में रखकर की जाती है। यह भी एक कारण है कि भारत को इस आशंका को लेकर कम चिंतित नहीं होना चाहिए कि तालिबान सरकार, भारत विरोधी आतंकवादी संगठनों को फायदा पहुंचा सकती है, खासकर जो कश्मीर के आसपास मौजूद हैं।'

जी दरअसल रक्षा सचिव डॉ। कॉलिन एच। कहल का कहना है कि भारत इन मुद्दों पर हमारे साथ काम करना चाहते हैं, खुफिया जानकारी साझा करने समेत जहां भी हम उन्हें सहयोग कर सकते हैं। यह हमें न केवल अफगानिस्तान के संबंध में और आतंकवाद के खिलाफ, बल्कि हिंद महासागर और हिंद-प्रशांत में व्यापक क्षेत्रीय सुरक्षा विषयों पर भारत के साथ सहयोग के अवसर प्रदान करता है।

डॉलर के मुकाबले 7 पैसे टूटा भारतीय रुपया

अक्टूबर को 'हिन्दू विरासत माह' के रूप में मना रहा अमेरिका, जानिए क्या है वजह

अमेरिका ने ड्रोन हमले में मार गिराया अल-क़ायदा का टॉप आतंकी अब्दुल हमीद अल-मतर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -