गठबंधन टूटने पर बोली मेहबूबा, अपने वादों पर नहीं टिकी बीजेपी

गठबंधन टूटने पर बोली मेहबूबा, अपने वादों पर नहीं टिकी बीजेपी

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ्ती ने कहा है कि वह और उनकी पार्टी, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ गठबंधन से काफी हद तक पीड़ित थी. मेहबूबा संवाददाताओं के सवालों का जवाब दे रही थी, इस दौरान जब उनसे गठबंधन तोड़ने के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से ये गठबंधन मैंने ही तोड़ा है.

चंदा कोचर मामला: सेबी के साथ समझौते को तैयार हुई आईसीसीआई

उन्होंने कहा कि जब पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी, भाजपा के साथ गठबंधन में थी, तो हमसे प्यार करने वाली जनता ही हमसे दूर होने लगी थी, लोग हमसे गुस्सा हो रहे थे, इसीलिए मैंने ये गठबंधन तोड़ दिया. उल्लेखनीय है कि 2015 के चुनाव में दोनों पार्टियों ने गठबंधन किया था, क्योंकि जम्मू कश्मीर विधानसभा चुनाव के दौरान किसी को भी स्पष्ट बहुमत नहीं मिला था.

'अब मुस्लिम न दाढ़ी रखेंगे और न नमाज पढ़ेंगे'

मेहबूबा मुफ़्ती ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि मौजूदा बीजेपी सरकार में अटलजी वाली सरकार की तरह दूरदर्शिता नहीं है, 1990 और 2000 के बीच अटलजी ने कश्मीर के लिए काफी काम किया था. यही सोचकर हमने बीजेपी से गठबंधन किया था कि हमे अटलजी सरकार की तरह केंद्र का साथ मिलेगा, लेकिन मौजूदा बीजेपी सरकार अपने वादों पर खरी नहीं उतरी. साम्प्रदायिकता के मामले पर उन्होंने कहा कि भारत धर्मनिरपेक्ष देश है, 2019 में अगर कोई भी पार्टी धर्म के आधार पर चुनाव लड़ती है तो वो सफल नहीं होगी.  

खबरें और भी:-​

7 साल की मासूम बनी हैवानियत का शिकार, दरिंदे ने प्राइवेट पार्ट में डाला पाइप

असम NRC : आज सुप्रीम कोर्ट तय करेगी 40 लाख लोगों का भविष्य

भारत की 52 कंपनियां कहलाएंगी 'सुपरब्रांड', 20 सितम्बर को दिया जाएगा अवार्ड