पाक क्रिकेट बोर्ड ने टॉस को लेकर किया यह फैसला

नई दिल्लीः पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने टॉस को लेकर बड़ा निर्णय लिया है। बोर्ड ने घरेलू सीजन से फर्स्ट क्लास क्रिकेट में टॉस नहीं करने का फैसला किया है। पाकिस्तान के क्रिकेट इतिहास में पहली बार कायदे आजम ट्रॉफी (प्रथम श्रेणी) में टॉस नहीं होगा। पीसीबी के एक सूत्र ने कहा ‘मेहमान टीम को निर्णय पहले बल्लेबाजी या फील्डिंग चुनने का अवसर मिलेगा. ऐसा खेल को तटस्थ बनाने के लिए किया जा रहा है ताकी घरेलू टीम को कोई अतिरिक्त फायदा ना मिले।

सूत्र ने बताया, ‘अगर ऐसी परिस्थिति बनी जिसमें दोनों टीमें पहले बल्लेबाजी पर अड़ी रहती हैं तब मैच रेफरी टॉस का सहारा लेंगे. आमतौर पर घरेलू टीम तेज गेंदबाजों को मदद करती पिच बनाते हैं. हमें लगता है इस घरेलू सीजन में हम बेहतर पिच बनाएंगे ताकी फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अच्छा खेल देखने को मिले. पिच क्यूरेटर्स पर पूरा ध्यान दिया जाएगा ताकी वही सही काम करें।

उन्होंने कहा, ‘एकदिवसीय और टी20 सीरीज को पहले की तरह टॉस प्रणाली के जारी रखा जाएगा.’उन्होंने कहा कि पीसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वसीम खान ने यह विचार रखा था जिस पर बोर्ड के अन्य अधिकारियों ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी। वसीम ने बताया, 'मैं पिछले कुछ समय में फर्स्ट क्लासक्रिकेट के स्कोर कार्ड देखकर हैरान हुआ।

मुझे देखकर लगा कुछ तो गलत है. मैच जल्दी खत्म हो रहे थे और बहुत कम रन बनाए जा रहे थे. फर्स्ट क्लास में कोई कड़ा मुकाबला देखने को नहीं मिल रहा था जो होना चाहिए. टॉस के अलावा हम और भी विकल्पों पर काम कर रहे हैं जिससे फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सुधार हो.' पीसीबी 12 सितंबर से कायदे आजम ट्रॉफी के साथ नए सत्र को शुरू करेगा।

इस पूर्व भारतीय ऑलराउंडर को मिली इंडिया ए टीम के गेंदबाजी कोच की जिम्मेदारी

सीओए द्वारा द्रविड़ का केस लड़ने पर उठे यह सवाल

आईसीसी की टेस्ट रैंकिग में कोहली की बादशाहत कायम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -