पेटीएम को 16,600 करोड़ रुपये के IPO के लिए सेबी की मिली मंजूरी

पेटीएम, भारत की अग्रणी वित्तीय सेवा कंपनी, जो उपभोक्ताओं को पूर्ण-स्टैक भुगतान और वित्तीय समाधान प्रदान करती है, को भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के 16,600 करोड़ रुपये के प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव (आईपीओ) के लिए बाजार नियामक से मंजूरी मिल गई है।

पेटीएम को इस महीने के अंत तक शेयर बाजार में आने की उम्मीद है और वह प्री-आईपीओ शेयर बिक्री के दौर को छोड़कर फास्ट-ट्रैक लिस्टिंग की योजना बना रही है। सूत्र ने नाम का खुलासा किए बिना कहा, "सेबी ने पेटीएम के आईपीओ को मंजूरी दे दी है।" सूत्र ने कहा कि कंपनी की प्री-आईपीओ वृद्धि को रोकने की योजना किसी भी मूल्यांकन अंतर से संबंधित नहीं है।

यदि प्रस्तावित आईपीओ सफल होता है तो यह इस तरह का सबसे बड़ा प्रस्ताव होगा। 2010 में कोल इंडिया की 15,200 करोड़ रुपये की आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) देश की अब तक की सबसे बड़ी पेशकश है। पेटीएम 1.47-1.78 लाख करोड़ रुपये का मूल्यांकन कर रही है। आईपीओ के मसौदे के मुताबिक, पेटीएम की योजना इक्विटी शेयरों के ताजा इश्यू के जरिए 8,300 करोड़ रुपये और बिक्री के लिए ऑफर के जरिए 8,300 करोड़ रुपये जुटाने की है। पेटीएम के संस्थापक, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी विजय शेखर शर्मा और अलीबाबा समूह की कंपनियां प्रस्तावित बिक्री के प्रस्ताव में अपनी कुछ हिस्सेदारी को कम करेंगी।

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू 27 अक्टूबर से होंगे गोवा के चार दिवसीय दौरे पर

महिलाओं को भाजपा नेता की 'नसीहत', कहा- शाम 5 बजे के बाद न जाएं थाने

दत्तात्रेय बोले- RSS कभी नहीं कहता हम दक्षिणपंथी हैं, हमारे कई विचार वामपंथियों जैसे

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -