पत्थर दिल

पत्थर दिल

गुलशन तेरे इश्क का खिल जाये तो अच्छा है.

 जिसकी आरजू दिल को है वो मिल जाये तो अच्छा है.

सुना है वो जालीम पत्थर दिल का जिगर रखता है .

कमबख्त  पिघल जाये तो अच्छा है .

मेरे सनम तूने ऐसा क्या काम कर दिया.

सरे हुस्न वालो को तूने बदनाम कर दिया .