फिर बेनकाब हुआ पाक, अमेरिका ने किया यह बड़ा खुलासा

नई दिल्ली : नए साल के मौके पर पर हुए पठानकोट अटैक में अब अमेरिका ने भी मान लिया है कि इस हमले में जेश-ए-मोहम्मद का हाथ है। अमेरिका ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने सारी जानकारियां शेयर करते हुए इसकी पुष्टि की है। इससे साबित होता है कि पठानकोट हमले की साजिश पाकिस्तान में ही रची गई थी।

इस संबंध में अमेरिका ने एनआईए को 1000 पन्नों का डोजियर सौंपा है। इस डोजियर में एक ऑडियो डिटेल भी है, जो जैश का सरगना कासिफ जान और चार फिदायीनों के बीच हुई बातचीत का है। 1000 पन्नों के इस डोजियर में एक निश्चित समयांतराल में जैश के हुक्मरानों के साथ हुई बातचीत का भी ब्योरा है।

अब एनआईए के अधिकारी इन दस्तावेजों का विश्लेषण कर रहे है। डोजियर में इस बात का भी उल्लेख है कि कासिम जान वॉट्सऐप पर चैट करने के साथ ही एक फेसबुक अकाउंट भी इस्तेमाल कर रहा था। यह फेसबुक अकाउंट उसी नम्बर से जुड़ा हुआ था जिस नम्बर से हमलावरों ने एसपी सलविंदर सिंह का अपहरण करते समय पठानकोट से फोन किया था।

खबरों के मुताबिक, हमले के दौरान चारों हमलावर, जिनके नाम क्रमशः नासिर हुसैन, अबू बकर, उमर फारूख और अब्दुल कयूम 80 घंटे में लगातार अपने पाकिस्तान में बैठे आकाओं से संपर्क में थे। एनआईए ने अमेरिका से पूरी कॉल डिटेल और चैट्स का ब्योरा मांगा था। एनआईए का कहना है कि इन कागजातों से भारत का पक्ष और मजबूत हो गया, इससे जैश का सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र में आंतकी घोषित किए जाने में भी मदद मिलेगी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -